मां जब अपने बच्चे को मरने के लिए फेंक दे तो उसे क्या कहेंगे?

पलामू प्रमंडल के गढ़वा जिले अंतर्गत भवनाथपुर मे ऐसा ही मामला मंगलवार की अहले सुबह टाउनशिप स्थित सेल के न्यू सीडी आवासीय परिसर में देखने को मिला। जहां जन्म के कुछ ही देर बाद ही किसी कलयुगी मां ने अपने नवजात बच्चे को मरने के लिए उसे न्यू सीडी के पूरब साईड वाली झाडीयों में फेंक दिया था। टाउनशिप स्थित सेल आवास में रहने वाले चेचरिया निवासी सुरेंद्र कुमार की पत्नी शोभा देवी जब अन्य महिलाओं के साथ मंगलवार की सुबह मॉर्निंग वॉक करते हुए उसी रास्ते निकली तो बच्चे के रोने की आवाज सुनी पास जाकर देखा तो पाया कि झाडी के समीप एक नवजात शिशु फेंका हुआ है, जो बिलख रहा था। बच्चे की किस्मत अच्छी थी कि उसके ऊपर किसी जानवर की नजर नहीं पड़ी थीं। बच्चे की एक झलक पाने के लिए ग्रामीणों का हुजूम उसके उमड़ पड़ा। नवजात बच्चा फेंके जाने की सूचना मिलते ही भवनाथपुर थाना प्रभारी सीबी सिंह टाउनशिप पहुंचे तथा नवजात को अपने अभिरक्षा में लेते हुए उसे उठाकर स्थानीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ले जाकर नवजात की स्वास्थ्य जाँच कराई गयी। थाना प्रभारी सीबी सिंह ने बताया कि नवजात की स्वास्थ्य जाँच के उपरांत सीडब्लूसी के एमटीएस अस्पताल श्रीबंशीधर नगर में भर्ती कराया गया है। इधर नवजात बच्चा फेंके जाने पर आवासीय परिसर में रहने वाले महिला पुरुष तरह-तरह की बाते भी कह रहें हैं। लावारिश शिशु फेंके जाने की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे कई लोगो ने बच्चे को गोद लेने की इच्छा जताई।