महिला द्वारा विदेश में रह रहे पति पर तलाक की बात निराधार!

अररिया(रंजीत ठाकुर): बथनाहा ओपी क्षेत्र के सोनापुर पंचायत अंतर्गत वार्ड नम्बर 16 चकोड़वा गांव की एक महिला हीना बेगम ने अपने पति व ससुराल वालों के विरुद्ध बुधवार को बथनाहा ओपी में आवेदन देते हुए  अपने ससुर, भैंसुर, जेठानी समेत पंचायत के मुखिया बसन्त दास व अन्य करीब आधा दर्जन लोगों पर अर्धनग्न कर मारपीट करने सहित कई गंभीर आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगायी है। अपने आवेदन में कहा है कि उक्त सभी लोगों ने मिलकर गांव के आलमीन नामक एक युवक को रात के करीब रात 9 बजे मेरे कमरे में लाकर बन्द कर दिया तथा हो हल्ला कर लोगों की भीड़ जुटाकर मेरे साथ उसके अवैध सम्बन्ध होने की अफवाह फैला दी गई।
वहीं पंचायत के मुखिया बसंत दास द्वारा उसके पति को फोन कर उसे जबर्दस्ती तलाक दिलवाने की बात उन्होंने कही है. जबकि पीड़ित महिला के ससुर मो जहांगीर ने बथनाहा ओपी में आवेदन देते हुए आरोप लगाया है कि उनकी पुत्रवधू का नाजायज संबंध पकड़े गए युवक आलमीन के साथ है। उन्होंने कहा कि उनका पुत्र विगत चार माह से दुबई (विदेश) में रहता है । मेरे पुत्र के द्वारा लगभग पांच लाख की राशि पुत्रवधू के निजी खाते में भेजा गया है, जिस रुपये से दोनों मौज कर रहे हैं । उन्होंने सोनापुर पंचायत वार्ड नं -15 के रहमत अली नामक युवा नेता पर आरोप लगाते हुए कहा  कि उन्होंने अपने तीन चार साथियों के साथ आकर दोनों को मेरे घर से जबरन लेकर चले गए तथा मेरी पुत्रबधू को बहला-फुसलाकर बथनाहा ओपी में झूठा मामला दर्ज कराया है । जबकि सच्चाई यह है कि इस मामले में ना तो किसी प्रकार की पंचायत हुई और ना ही मुखिया बसंत दास यहां आए हैं. लेकिन जब संवाददाता द्वारा जमीनी हकीकत जानने हेतु उक्त महिला से इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने अपने दिए बयान में अपने सास-ससुर सहित परिजनों पर आरोप तो लगाया ही, पति द्वारा तलाक दिए जाने की बात भी स्वीकारी, लेकिन किसी प्रकार के प्रेम प्रसंग से इनकार किया। वहीं गौर करने वाली बात है कि पंचायत के मुखिया वसंत दास पर कोई आरोप नहीं लगाया. जबकि उक्त महिला के कथित प्रेमी आलमीन ने संवाददाता को दिए अपने बयान में कहा कि मुझे जबरदस्ती इनके घर बंद कर दिया गया।मुझ पर अवैध संबंध का आरोप लगाते हुए मारपीट की गई है,लेकिन मेरा दूर-दूर तक इस महिला से कोई ताल्लुक नहीं है.

वहीं उक्त महिला की मां सोनापुर पंचायत के वार्ड संख्या 9 निवासी शाहिना खातून,पति मोहम्मद सफाज ने गुरुवार को संवाददाता को दिए बयान में बताया कि बुधवार की रात्रि रहमत अली अपने अन्य पांच साथियों के साथ पहुंचकर जबरदस्ती मेरे घर से मेरी बेटी हिना खातून को अपने साथ ले गई साथ में जेवर जेवरात नगदी सभी लेकर वे लोग चलते बने। मैंने मकई बेच कर 25000 रुपए भी रखे थे,वह भी उन लोगों ने लूट लिए। सभी हथियारों से लैस थे। जिसमें से मैंने सिर्फ दो को पहचाना। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मैं बथनाहा ओपी में आवेदन देने जा रही हूं। दोबारा जब मैं रहमत अली के घर पहुंची,तो वहां मुझे अपनी बेटी से मिलने नहीं दिया गया। हैरत की बात है कि हिना की मां ने अपने दामाद की तारीफ की और कहा कि वह इस घटना से जार-जार रो रहा है,लेकिन तलाक के बात नहीं बताई. वहीं इस मामले में पंचायत के मुखिया बसंतलाल दास ने गुरुवार को संवाददाता को बताया कि यह सारी साजिश की जड़ रहमत अली है। रहमत अली पर पूर्व से ही केस चल रहा है। न्यायालय  द्वारा हाल ही में रहमत अली को नोटिस भी मिला है,जिसके खीझ में आकर वह मुझे इस मामले में जानबूझकर फंसाना चाह रहा है। उन्होंने कहा कि इस मामले से मेरा दूर-दूर तक कोई लेना देना नहीं है. जबकि बुधवार को 
बथनाहा ओपी में  फारबिसगंज अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी मनोज कुमार के समक्ष हिना बेगम तथा आलमीन को जांच के लिए बुलाया गया था,जहां उनलोगों ने अपना-अपना बयान दर्ज कराया है । अनुमण्डल पुलिस पदाधिकारी ने कहा कि हिना का पति ने मोबाईल पर कहा कि मेरे द्वारा पत्नी हिना को तलाक नहीं दिया गया है। उन्होंने कहा कि बथनाहा ओपी में दोनों पक्षों के द्वारा मिले आवेदन के आधार पर अनुसंधान किया जा रहा है.

जबकि बथनाहा ओपी अध्यक्ष राजेश कुमार रंजन ने कहा कि यह मामला काफी संवेदनशील है। दोनों ही पक्षों से आवेदन प्राप्त हुआ है,मामला दर्ज कर जांच की जा रही है. जबकि दोनों ही पक्षों के आवेदन का अवलोकन से विरोधाभास नजर आ रहा है जबकि स्थानीय पुलिस दोनों ही पक्षों के आवेदन व बयान को लेकर सख्त नजर आ रही है पुलिस का मानना है कि मामले में कहीं न कहीं राजनीति हो रही है।