भक्तिभाव से निकले खाटू-श्याम, पुष्पवर्षा से हुआ भव्य स्वागत

पटनासिटी(संवाददाता, न्यूज़ क्राइम 24): हाथो मे लेकर निशान चाला खाटु धाम आए हे दिन फागन के आए दिन नाचन के मेरे शिर पर हाथ रख दे बाबा हारे के सहारे की जय  के भजनों से संपूर्ण पटना सिटी भक्ति में हो गया, मौका था श्री श्याम मंदिर सेवा ट्रस्ट द्वारा आयोजित सोलर रंग रंगीला फागुन महोत्सव का, जिसके दूसरे दिन आज श्री बिहारी जी मिल्स से एक विशाल निशान शोभायात्रा निकाली गई जो मालसलामी स्थित बिहारी जी मिल्स से प्रारंभ होकर मारूफगंज, हाजीगंज, झाऊगंज, चौक, मचछरहटा, खाजेकलाँ, पानी टंकी, अशोक राज पथ होते हुए श्री श्याम मंदिर राजाराम लेन में पहुंचकर संपन्न हुई.

बाबा की जयकारों से गूंज उठा सिटी-

शोभायात्रा में बड़ी संख्या में मारवाड़ी समाज की महिलाएं और पुरुष बच्चे शामिल थे. हाथों में निशान लिए भक्त नाचते-गाते और जय बाबा की जयकारा लगाते हुए चल रहे थे. रंग-बिरंगे परिधानों में सजी महिलाएं और पुरुष श्याम बाबा का पीला दुपट्टा ओढ़े चल रहे थे.

श्री श्याम बाबा की पालकी आकर्षक का केंद्र बना था-

शोभायात्रा के रास्ते में लोग गुलाब जल का छिड़काव कर रहे थे और जगह-जगह पर विभिन्न स्वयंसेवी संगठनों द्वारा शरबत, टॉफी, बिस्कुट फल एवं पुष्प बरसों से शोभायात्रा का स्वागत किया जा रहा था. इस दौरान रंग-बिरंगे फूलों से सजी बाबा श्री श्याम की पालकी आकर्षण का केंद्र बनी हुई थी. भक्त नाचते-गाते अबीर-गुलाल उड़ाते चल रहे थे. श्री श्याम बाबा को समर्पित भजन कीर्तन से महौल श्री श्याम मय हो गया था, शोभायात्रा के आगे-आगे दर्जनों बैंड पार्टी भांगड़ा घोड़ें और उठ चल रहे थे.

विशाल शोभायात्रा में शामिल रहे-

विशाल शोभायात्रा का नेतृत्व वरिष्ठ समाजसेवी ओपी साह, रमन साह, नारायण साह, दिलीप डिडवानियाँ, मनीष हरलालका, प्रदीप जैन, राहुल अग्रवाल, संजीव देवड़ा, बीटु खेतान, राज कुमार गोयनका, राजु सुलतानियाँ, सोनु बेनीवाल, गणेश शर्मा पंडित, श्याम सुंदर शर्मा, अनूप पोद्दार, अशोक बुबना, संजय बुबना, सरवन सुलतानियाँ सहित श्री श्याम सेना के भक्त चल रहे थे.

पुलिस-प्रशासन द्वारा पूरी व्यवस्था की गई-

प्रशासन द्वारा बहुत ही जबरदस्त व्यवस्था की गई थी. तीन किलोमीटर लंबी  निशान शोभायात्रा में 1100 भक्त निशान लेकर चल रहे थे. मुख्य समारोह रात्रि फागुन सुदी एकादशी के अवसर पर मंदिर प्रांगण में भव्य सजावट की गई है साथ ही भजन संध्या का भव्य आयोजन किया गया है।

[Edited By: Robin Raj]