बॉयफ्रेंड के फ्रेंड ने लूटी महिला की अस्मत!

धनबादः प्रेमी के साथ कोलकाता से फरार एक महिला के साथ प्रेमी के दोस्त ने ही दुष्कर्म किया. कई शहरों में बंधक बना कर महिला के साथ जोर-जबर्दस्ती की गई. प्रेमी संकेत कृष्णानी के दोस्त बैंक मोड़ तेतुलतल्ला के बादल गौतम ने महिला से लाखों रुपए और बेशकीमती गहने भी ले लिए. किसी तरह पीछा छुड़ाकर निकली महिला ने बादल गौतम के खिलाफ बैंक मोड़ थाने में अगवा कर दुष्कर्म करने की प्राथमिकी दर्ज कराई है. पुलिस ने महिला का मेडिकल टेस्ट कराया है. जल्द ही न्यायालय में महिला का धारा 164 के तहत बयान दर्ज कराया जाएगा. पीड़िता बीसीसीएल के रिटायर अधिकारी की बेटी है.

बैंक मोड़ थाने में दिए लिखित शिकायत में महिला ने बताया कि वह अपने विवाह से खुश नहीं थी और संकेत कृष्णानी के साथ शादी करना चाहती थी. 11 जुलाई को वह कोलकाता से संकेत कृष्णानी और बादल गौतम के साथ अपने कार से निकली थी. संकेत और बादल गौतम के बीच 15 वर्षों की जान-पहचान थी. बादल गौतम के कहने पर घर से निकलते वक्त उसने अपने सारे गहने साथ ले लिए थे. बादल ने यह कहते हुए सारे गहने और रुपए ले लिए कि जब पुलिस पकड़ेगी तो गहने ले लेगी. बादल और उसके भाई के खिलाफ हाल ही वो बोकारो में भी प्राथमिकी दर्ज की गई थी. वह पहले भी विवादों में रहा है.

रेड लाइट एरिया में बेचने की देता था धमकी-

महिला ने पुलिस को दिए आवेदन में बताया कि वह अपने किया सेलटॉस कार से घर से निकली थी. बादल ने अपनी कार जामताड़ा में छोड़ दी. वहां से वह, कृष्णानी और बादल गौतम उसकी कार से दिल्ली गए. दिल्ली में बादल अपने दोस्त अभिषेक राय के घर ठहरा. वहां कृष्णानी को बहाना बनाकर बाहर भेज दिया और उसके साथ जबरन संबंध बनाया. धमकी दी कि यदि वह कृष्णानी या किसी से दुष्कर्म के संबंध में बताएगी तो उसे दिल्ली के रेड लाइट एरिया में बेच देगा.

घुमाते रहा जालंधर, मोहाली, कानपुर और रांची बादल गौतम महिला और उसके दोस्त संकेत को दिल्ली से जालंधर ले गया. दिल्ली में ही महिला की कार अपने दोस्त के पास छोड़ दी. वहां से मोहाली ले गया. फिर वे लोग कार से ही कानपुर पहुंचे. कानपुर में अलग-अलग कमरा लिया. बादल ने वहां भी महिला से दुष्कर्म किया. इसके बाद दोनों लेकर वह खेलगांव पहुंचा. वहां शूटर को पहले से बुलाकर रखा था. शूटरों के सामने कृष्णानी को जान मारने की दी और घरवालों से 25 लाख की फिरौती मांगने को कहा. तब कृष्णानी को भी अपहृत होने की बात पता चली.

28 जुलाई को बादल दोनों को लेकर रांची लालपुर आया. वहां अपने भाई मोहित के घर पर ठहराया. वहां उसके शूटर भी थे. धनबाद के कई लोगों के खिलाफ बादल ने उनसे झूठी शिकायत पुलिस अधिकारियों और थाने में दिलवाई. शिकायत नहीं करने पर उसे और कृष्णानी को जान से मारने की धमकी देता था. एक लड़की के जरिए बादल गौतम ने कृष्णानी के भाई से आठ लाख रुपए बरटांड़ में लिए थे. किसी तरह वह उसके चंगुल से छूटी. अभी भी गहने और रुपए बादल के ही पास हैं।