बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन में लाखों का घोटाला!

पटना(अजित यादव): बिहार पुलिस मेंस एसोसिएशन में संगठन महामंत्री ने दिनेश दुबे ने  प्रेस को संबोधित करते हुए लाखों के घोटाले का भंडाफोड़ किया है। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कुमार धीरज द्वारा सिपाही और हवलदार के चंदे के पैसों का गबन किया गया है जो लाखों का घोटाला है।संगठन महामंत्री के साथ कोषाध्यक्ष जयशंकर प्रसाद एवं अन्य पदाधिकारियों ने पुलिस महानिदेशक गुप्तेश्वर पांडेेेय से माग कि है कि पूर्व प्रदेश अध्यक्ष नरेन्द्र कुमार धीरज जो सिपाही एवं हवलदारो के खुन पसीना की कमाई से प्राप्त चन्दा एवं भवन आवंटन की राशि लगभग 50.00000 ( पचास लाख ) रूपया जिसका गबन किया गया है जिसकी जाँच कराई जाए । एसोसिएशन ने जांच के सम्बंध में डीजीपी को पत्र भेजा है । जिसमे कहा गया है कि इतने बडे राशि की गबन की जॉच अभी तक नहीं हो सकी है जिसके कारण रज्य के लगभग 80.0000 पुलिस कर्मियों में आक्रोश एवं असंतोष दिन व दिन बढ़ता जा रहा है । यह गबन चन्दे की रशि माह नवम्बर 2017 से मार्च 2019 की है । और भवन से प्राप्त आय माह नवम्बर 17 से अभी तक का है जो बिहार पुलिस मेन्स एसोसियेशन के खाता जमा नहीं किया गया है । ज्ञात्व्य हो कि बिहार पुलिस मेन्स एसोसिएशन केन्द्रीय कार्यालय मे दो खाता संचालित है जिसमें एक खाता में चन्दे की राशि जाता है दुसरे में भवन से प्राप्त आय जाता है । दोनो खाता का अद्यतन कराने पर पता चला कि कमशः एक खाता में लगभग 8000 / – रूपया एवं दुसरे में लगभग 11000 / – रूपया मात्र है । वर्ष 2017 से कोई राशि खाता में जमा नहीं की गयी है ।  उल्लेखनीय है कि पद पर बने रहने के लिये पुरे बिहार के शाखाओं में शाखा पदाधिकारी के साथ डेलीगेट का भी चुनाव हुआ । शाखा पदाधिकारी का मतगणना कर रिजल्ट दिया गया परन्तु डेलीगेट का बक्सा बिना मतगणना किये मंगवा लिया गया । अपने चहेते लोगो को मनमाने ढंग से फर्जी डेलीगेट बना लिये जिसकी जॉच पुलिस मुख्यालय का ज्ञापांक -53 दिनांक -20.02.20 के द्वारा राज्य के सभी जिले / वहिनी में जॉच हेतु पुलिस महानिरीक्षक / उप महानिरीक्षक को भेजी गयी है । जो अभी तक अधिकतर जिला से जॉच लम्बित है । जॉच को प्रभावित करने के उद्देश्य से गबन करने वाले सभी शाखा पदाधिकारी को बर्खास्त करने की धमकी भी दे रहे है।