बिहार की जनता कोरोना से बचना चाह रही है, वहीं NDA सरकार बिहार में चुनाव चाह रही है : आप

पटना(न्यूज़ क्राइम 24): आम आदमी पार्टी बिहार के प्रदेश प्रवक्ता बबलू कुमार प्रकाश ने प्रेस बयान जारी करते हुए कहा है कि- बिहार में हर मोर्चे पर फेल जदयू-भाजपा की डबल इंजन की सरकार चाहती है कि आगामी विधानसभा चुनाव कोरोना काल में ही सम्पन हो, ताकि कोरोना संक्रमण से डरे सहमे बिहार की जनता वोट डालने अपने घरों से नही निकले। ताकि मतदान कम से कम हो और जिसका सीधा फायदा बिहार की मौजूदा निक्कमी सरकार को मिले.

बबलू ने कहा कि- बिहार में कोरोना संक्रमित लोगो की संख्या में बेतहाशा वृद्धि हुई है। जिसे रोकने में बिहार का स्वास्थ्य महकमा फेल हो चुका है। कोरोना आशंकितों की जांच करने की रफ्तार भी बहुत धीमी है। सरकार अपनी जिम्मेदारियों से पल्ला झाड़ते दिख रही है और कोविड से जुड़े निर्णय लेने की जिम्मेदारी सूबे के सभी जिलाधिकारियों के ऊपर छोड़ दिया है। जिस कारण पटना समेत 11 जिलों में लॉकडाउन लगा दिया गया है। बिहार की जनता कोरोना से लड़ रही है। वहीं, बिहार की सरकार कोरोना से लड़ने की जगह चुनाव लड़ने की तैयारी में जुटी है.

बबलू ने कहा कि कोरोना के बढ़ते प्रकोप से बचने के लिए लॉकडाउन की बापसी हो सकती है । तो बिहार विधानसभा चुनाव कुछ महीनों के लिए स्थगित क्यों नही हो सकता है ? ‘आम आदमी पार्टी सहित बिहार के अन्य राजनीतिक दलों ने विधानसभा चुनाव को स्थगित करने की मांग चुनाव आयोग से किया है.

वहीं प्रदेश मीडिया कोऑर्डिनेटर मृणाल कु राज ने कहा कि आम आदमी पार्टी को बिहार के आम आवाम की चिंता है, वहीं भाजपा-जदयू के नेता महामारी के इस दौर में भी राजनीति करने को अमादा है। मृणाल ने बताया कि बिहार में सामान्य दिनों में जो चुनाव हुए हैं उसका मतदान प्रतिशत 40 से 50% रहा है।  अगर संक्रमण के इस दौर में बिहार विधानसभा चुनाव होती है तो मतदान का प्रतिशत गिर कर 20 से 22% रह जायेगा। क्योंकि जनता कोरोना संक्रमण के भय से अपने घरों से वोट डालने नही निकलेंगे।