बिष्णुगढ के प्रवासी मजदूर विजय राम की मुंबई में मौत

हजारीबाग: बगोदर,डुमरी बिष्णुगढ व गोमियां प्रखंड के आस पास क्षेत्रो की एक के बाद एक लगातार हो रही प्रवासी मजदूरों की मौत का शिलशिला नहीं थम रहा हैं।विदेशो व महानगरों में लगातार प्रवासी मजदूरों की हो रही मौत से प्रवासी मजदूरों सहित उनके परिजन चिंतित हैं।हजारीबाग जिले के बिष्णुगढ थाना क्षेत्र के उचाधाना खरकट्टो के प्रवासी विजय राम 44 वर्ष पिता स्वर्गीय लेदो रविदास की मौत मुंबई में ईलाज के दौरान में गुरूवार रात को अस्पताल में ईलाज के दौरान मौत हो गयी।इसकी सूचना मिलते ही परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो गया हैं।विजय राम मुम्बई के पनवेल में राजमिस्त्री का काम करता था।वह अपने पीछे पत्नी उर्मिला देवी,पुत्री पिंकी कुमारी(18) को छोड़ गया।वहीं इस घटना को लेकर प्रवासी मजदूरों के हितार्थ में कार्य करने वाले समाजसेवी सिकन्दर अली ने कहा कि झारखंड के नौजवानों की मौत के मुंह में समा जाने की यह पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी कई लोगों की मौत हो चुकी है। सरकार मजदूर हित में कुछ पहल नहीं कर पा रही है और मजदूरों का पलायन तेजी से हो रहा है मुंबई से पैतृक गांव शव लाने के लिए हरसंभव मदद करने का प्रयास किया जा रहा है।वहीं दुखद घटना की सूचना मिलते ही समाजसेवी खेमलाल साव,अशोक राम,कैलाश राम,फूलचंद रविदास मृतक विजय राम के घर पहुँचकर ढाढ़स बंधाया।