प्रशासन और पब्लिक में भिड़ंत फायरिंग में 1 की मौत, दर्जन भर लोग जख्मी!

मुंगेर(न्यूज़ क्राइम 24): बिहार के मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन को लेकर पुलिस और पब्लिक में झड़प 1 दर्जन से अधिक गोलियां चली एक की मौत आधा दर्जन से अधिक लोग घायल ।घटना में कोतवाली प्रभारी समेत तीन जवान भी घायल। बीते देर रात 12:00 बजे कोतवाली थाना क्षेत्र के दीनदयाल चौक के पास प्रतिमा विसर्जन को लेकर पुलिस और पब्लिक आमने-सामने हो गई। दरअसल मुंगेर जिला में प्रथम चरण में ही तीनों विधानसभा जमालपुर तारापुर एवं मुंगेर में मतदान होना है ।इसको लेकर प्रशासन प्रतिमा को जल्दी-जल्दी विसर्जन करवाना चाह रही थी ।बड़ी दुर्गा महारानी शादीपुर की प्रतिमा काफी धीरे-धीरे आगे बढ़ रही थी। दीनदयाल चौक के पास प्रशासन प्रतिमा को पूजा समिति से आगे बढ़ाने को कह रही थी। इसी बीच पब्लिक विरोध करने लगी। स्थिति उग्र हो गई। लाठीचार्ज हुआ ।पथराव हुआ और गोलियां चलने लगी। लगभग 1 दर्जन से अधिक गोली चली। गोलीबारी में कोतवाली थाना क्षेत्र के लोहा पट्टी निवासी 22 वर्षीय अनुराग कुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। गोलीबारी में 7 अन्य लोग घायल हैं ।जिसमें एक को बेहतर इलाज के लिए भागलपुर रेफर किया गया है ।6 का इलाज सदर अस्पताल में चल रहा है ।सदर अस्पताल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट निरंजन ने बताया कि सभी गोली लगे घायलों का एक्सरे किया जाएगा ।अगर डीप में गोली लगी होगी तो उन्हें रेफर किया जाएगा। बाहर गोली अगर होगी तो उसे निकाला जाएगा ।

प्रतिमा विसर्जन में जल्दबाजी करने तथा पुलिस पर गोलीबारी करने का आरोप स्थानीय लोगों ने लगाए ।

मृतक के परिजन तथा अन्य लोगों ने कहा कि पुलिस की यह तानाशाही है ।पुलिस ने गोली चलाई है । हम लोग प्रतिमा का विसर्जन कर रहे थे ।लेकिन पुलिस जल्दी विसर्जन करने का दबाव बना रही थी ।हम लोगों के आस्था के साथ खिलवाड़ हुआ है। हम लोग 11वीं पूजा को विसर्जन करते हैं लेकिन पुलिस दसवीं को ही विसर्जन करवा रही थी ।फिर भी हम लोग विसर्जन कर रहे थे ।लेकिन पुलिस जल्दबाजी में करने को कह रही थी ।नहीं करने पर हम लोगों के साथ मारपीट तथा गोलीबारी हम लोगों के साथ किया गया।

घटना के बाद मुंगेर के एसपी लिपि सिंह एवं राजेश मीणा ने बयान जारी कर कहा कि प्रतिमा विसर्जन के दौरान शरारती तत्व के द्वारा हंगामा किया गया है। गोलीबारी भी शरारती तत्वों ने चलाई है। इसमें एक की मौत हुई है कई अन्य घायल हैं ।एसपी ने बताई की कोतवाली थाना प्रभारी भी घायल है तथा पुलिस के भी तीन जवान घायल हुए हैं। उन्होंने कहा कि फिलहाल स्थिति शांतिपूर्ण है। मौके पर कई थानों की पुलिस कैंप कर रही है।

लेकिन हकीकत है कि मुंगेर में प्रतिमा विसर्जन पुलिस प्रशासन द्वारा ही करवाया जा रहा है ।सभी पूजा समिति देर रात प्रतिमा को सड़क पर ही छोड़कर अपने अपने घर चले गए। देर रात से सुबह तक प्रशासन अपने से प्रतिमा को विसर्जन के लिए सोझी घाट गंगा किनारे पहुंचा रही है। सुबह होने के बाद पूजा समिति भी अपने-अपने प्रतिमा के पास नजर आ रहे हैं। लेकिन लोगों में आक्रोश देखने को मिल रहा है ।मुंगेर में 28 तारीख को यानी कल चुनाव होना है।