पूर्वी सिंहभूम जिले की दो युवती की कोयंबटूर में सड़क हादसे में मौत!

जमशेदपुर(न्यूज़ क्राइम 24): पूर्वी सिंहभूम जिले के घाटशिला अनमंडल के गालूडीह और बहरागोड़ा की दो युवती की सोमवार को कोयंबटूर में हुई सड़क दुर्घटना में मौत हो गई।शव नहीं आने से परिजन काफी परेशान हैं।दोनों के परिवार के अभिभावक काफी चिंतित हैं।

गालूडीह थाना क्षेत्र के छोटा उल्दा गांव की लक्ष्मी महतो के पिता गणेश महतो ने बताया कि कंपनी वालों का कहना है कि वहां की पुलिस परिवार के बिना शव नहीं दिया जाएगा। ऐसे में मेरी स्थिति ऐसी नहीं है कि कोयंबटूर जाकार बेटी का शव ला सकें। वही स्थित बहरागोड़ा थाना के छोटा पारूलीया गांव की सोनाली मुंडा के पिता बुधराम मुंडा की है। बताया कि उनकी चार पुत्री है। सबसे छोटी पुत्री सोनाली थी। शव लाने की व्यवस्था प्रशासन करे नहीं तो शायद बेटी का मुंह भी नहीं देख सकते हैं। किसी तरह से मजदूरी कर परिवार का भरण पोषण करते हैं।

मुख्‍यमंत्री से किया शव मंगाने का आग्रह-

गालूडीह के झामुमो नेता ने पिन्टू महतो एवं अजय महतो ने कंपनी के अधिकारी से मामले पर बात कर दोनों के शव भेजने की बात कही। पिन्टू ने बताया कि कोयंबटूर यहां से 2000 किलोमीटर दूर है। उन्होंने बताया कि कोयंबटूर में सड़क हादसे में अनुमंडल की दो युवती की हुई मौत की जानकारी ट्रवीट कर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को दी गई। पिन्टू ने मुख्‍यमंत्री से दोनों युवती का शव परिजनों के पास भेजने एवं उचित मुआवजा दिलवाने का आग्रह किया।

स्‍कूटी से लौटने के वक्‍त हुआ हादसा-

ज्ञात हो कि दोनों युवती कोयंबटूर के बैंक में आधार लिंक कर स्कूटी से वापस कंपनी आ रही थी। उसी दौरान अज्ञात वाहन के चपेट में आ गई। लक्ष्मी की मौत घटनास्थल पर ही हो गई जबकि सोनाली की अस्पताल ले जाने के क्रम में मौत हुई। दोनों का शव कोयंबटूर के अस्पताल के शीत गृह में कंपनी द्वारा रखा गया। घटना की जानकारी टीकेएल नाईट कंपनी के एचआर मुथु गणेश ने देर शाम दोनों परिवार को दी। सोनाली एवं लक्ष्मी एमजीएम थाना के नरेगा स्थित कौशल विकास केंद्र से शिलाई का प्रशिक्षण लेने के बाद वहां गई थी।