पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी पर शहीदों को श्रद्धांजलि

नौबतपुर(अजित यादव): श्रीनगर के पुलवामा में पिछले साल हुए आतंकी हमले की पहली बरसी पर नौबतपुर में सामाजिक संस्था प्रयास एक पहल के द्वारा श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया। आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद द्वारा सीआरपीएफ के काफिले पर किए गए इस आत्मघाती हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। पुलवामा आतंकी हमले की पहली बरसी पर नौबतपुर थानाध्यक्ष ने वीर जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि देश के हर नागरिक का कर्तव्य है कि सेना का सम्मान करते हुए वीर जवान जो देश के लिए शहीद हो गए उनके परिजनों को जितना संभव हो मदद करें। वही वरिष्ठ पत्रकार संतोष चंचल एवं शिक्षक सचिन कुमार ने भी शहीदों की शहादत को याद करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है.

संस्था के अध्यक्ष राकेश तिवारी ने शहीद जवानों को याद करते हुए कहा की आज पुलवामा हमले के पूरे एक वर्ष हो चुके है और यह एक काला दिवस से कम नही। शहीद जवानों के शौर्य, साहस, पराक्रम को भारत सलाम करता है। देश की रक्षा के लिए अपने प्राणों को बलिदान कर देने वाले वीर सपूतों का यह देश युगों-युगों तक ऋणी रहेगा। हम सब शहीदों के परिवार के साथ हैं। अब यह परिवार देश का परिवार है। वीरों को नमन! भारतीय जवानों ने अपने वीर सपूतों के बलिदान का बदला पाकिस्तान की छाती पर चढक़र लिया। भारत आतंकवाद को अब कतई बर्दाश्त नहीं करेगा.

संस्था के उपाध्यक्ष बंटी एवं मृत्युंजय के साथ कोषाध्यक्ष उज्ज्वल राज ने भी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि “तुम्हारे शौर्य के गीत, कर्कश शोर में खोये नहीं। गर्व इतना था कि हम देर तक रोये नहीं।” पुलवामा हमले में शहीद हुए उन सभी शहीदों को आत्मीय श्रद्धांजलि।
कार्यक्रम में संस्था के सदस्य गोलू कुमार, विक्की,आशुतोष, जितेंद्र, हर्ष, राजेश, धीरज, सौरभ, मुकुंद, विशाल, विशाल, श्रवण, दीपक सहित दर्जनों लोग मौजूद रहे।