पहले किया दुष्कर्म फिर की छिनतई, अब केस उठाने की दे रहा धमकी!

जमुई(मो० अंजुम आलम): 2017 से दुष्कर्म की शिकार हो रही आदिवासी युवती को अबतक न्याय नहीं मिला। पीड़िता झाझा थाना और एससी/एसटी थाना का चक्कर काटकर थक चुकी है। न्याय की गुहार लगाते हुए गुरुवार को पीड़ित युवती समाहरणायल पहुंची और एसपी प्रमोद कुमार मंडल से न्याय की उम्मीद लिए मदद की गुहार लगाई है। घटना झाझा थानाक्षेत्र के एक गांव का है। एक आदिवासी परिवार की युवती ने आवेदन देते हुए एसपी से शिकायत की है कि वर्ष 2017 में झाझा थानाक्षेत्र के फतेहपुर गांव निवासी शंभु यादव द्वारा दुष्कर्म किया गया। इस बात की शिकायत जब भी वो करना चाहती थी तो आरोपित उसके घर वालों को जान से मारने की धमकी देता और उसके साथ सामुहिक दुष्कर्म करने की भी धमकी देता था। किसी तरह हिम्मत कर पीड़िता ने फरवरी 2020 में झाझा थाना और एससी/ एसटी थाना में शिकायत दर्ज कराई लेकिन आज तक झाझा थाना के द्वारा आरोपित के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई.

एक लाख रुपया भी छीना-

पीड़िता ने बताई की 6 अगस्त को वह अपने माता-पिता के साथ बैंक से पैसा निकाल कर घर जा रही थी तभी झाझा रेलवे कॉलोनी के लोहा पुल के पास आरोपित शंभु यादव उसे घेर लिया और पिस्तौल का भय दिखाते हुए उससे एक लाख रुपए छिन लिया। इसे लेकर फिर आरोपी के खिलाफ झाझा थाना में शिकायत दर्ज कराई गई, लेकिन पुलिस द्वारा शंभु यादव के खिलाफ किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं की गई.

केस उठाने की मिल रही धमकी-

पीड़िता का परिवार पूरी तरह आरोपितों से डरा- सहमा है। पीड़ित युवती ने बताया कि वह जब भी घर से निकलती है, शंभु यादव और उसका आदमी उसके पीछे लग जाता है। 18 सितंबर की सुबह 8:30 बजे जब वह घर जा रही थी तब बाइक पर सवार दो युवक आया और केस नहीं उठाने पर अंजाम भुगतने की धमकी देने लगा। साथ ही कहा कि अगर केस नहीं उठाएगी तो हर दिन उसका सामुहिक दुष्कर्म किया जाएगा। वहीं एसपी पी.के.मंडल ने जांच कर उचित कार्रवाई करने का पीड़िता काे आश्वासन दिया है।