परिजन ने सिद्धू के शव को लेने से किया इनकार, प्रशासन ने की दाह संस्कार!

जमुई(मो० अंजुम आलम): बिहार- झारखंड सीमा क्षेत्र के नक्सलियों का प्लाटून कमांडर सिद्धू कोड़ा के शव को 72 घंटे रखने के बाद अंततः पुलिस ने कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच बुधवार की शाम दाह- संस्कार कर दिया। पुलिस अभिरक्षा में सिद्धू कोड़ा की मौत होने व शव को पोस्टमार्टम के बाद सिद्धू कोड़ा के गांव और उसके ससुराल में शव लेने की सूचना दी गई थी। लेकिन 72 घंटे तक स्वजन की ओर से शव लेने के लिए कोई प्रतिक्रिया नहीं आई थी। उसके बाद पुलिस प्रशासन ने सुरक्षा व्यवस्था के बीच बुधवार की शाम 5 बजे दाह- संस्कार कर दिया। हालांकि नक्सलियों का एक दस्ता सिद्धू कोड़ा के घर व ससुराल जाकर स्वजन को पुलिस अभीरक्षा से शव लेकर दाह- संस्कार करने की बात कही गई थी। इस बात को लेकर लगातार 72 घंटों से नक्सलियों द्वारा स्वजन पर दबाव बनाया जा रहा था, लेकिन स्वजन द्वारा शव को लेने के लिए कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई गई। नक्सलियों का कहना था कि शव लाकर दाह- संस्कार गांव में किया जाए ताकी नक्सलियों द्वारा अंतिम सलामी दी जाए। स्वजन द्वारा सिद्धू का शव लेने से इनकार करने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।