पत्रकारो के अधिकार को छीनना निन्दनीय : एआईजेसी

अररिया(रंजीत ठाकुर): प्रदेश संख्या दो के प्रदेश सभा से पत्रकारों के ऊपर लादे गए दमनात्मक कानून का आसियान इंटरनेशनल जर्नलिस्ट कॉउंसिल के निदेशक शशांक राज व राजेश कुमार शर्मा के द्वारा प्रदेश सरकार का आलोचना करते हुए कहा है की अब तक किसी भी खबर पर आपत्ति होने पर प्रकाशक ,संपादक पर मामल दर्ज होता था जिसे अखबार के बिधि संवाददाता के द्वारा न्यायालय में चुनौती दी जाती थी। लेकिन प्रदेश सरकार के द्वरा पारित किए गए नए कानून से पत्रकार कोई भी खबर सीधे तौर पर नही सम्प्रेषण कर सकते है क्योंकि किसी के द्वारा किसी खबर पर आपत्ति जाता कर सीधे मामला दर्ज करा कर पत्रकार से जुर्माना वसूली की दावा कर सकता है जो पत्रकारिता के बिरुद्ध ।वही यह कानून सरकार के अधिकारियों के द्वारा किये जा रहे भ्रष्टाचार को भी बढ़ावा देगा जो कभी भी मान्य नहीं होगा वही इस कानून का कॉउंसिल के अशोक कुमार झा,मेराज सिद्दिकी, सुभाष कुमार,सुदीप भारती,नेपाल चेप्टर के उषा सरदार, गणेश ठाकुर, अनिल वर्मा सहित अन्य पत्रकारों ने निन्दा किया है।