पति के साथ बाईक से जा रही महिला को अपराधियों ने गोलीमार कर दी हत्या, मौके से एक खोखा बरामद!

फुलवारीशरीफ(अजीत यादव): राजधानी पटना के संपत चक में महज एक बाईक से दुसरे बाईक में हल्का सा सट जाने के मामूली से विवाद में ही बदमाशो ने बाईक से पति और बच्चो के साथ जा रही है महिला को गोली मार हत्या कर दिया और आराम से फरार हो गये. हत्या की यह सनसनीखेज वारदात संपत चक के चैनपुर गाँव के पास हुई. दिन दहाड़े बीच सड़क पर बारिश के बीच पत्नी की हत्या के बाद पति और दोनों बच्चे चीत्कार मार विलाप करने लगे और वहा राहगीरों की भीड़ जमा हो गयी | घटना की सुचना पाकर मौके पर गोपालपुर थाना की पुलिस पहची और किसी तरह परिजनो को समझा बुझाकर शव को पोस्टमार्टम में भेजवाया | पुलिस को मौके से एक खोखा भी बरामद हुआ है | पुलिस आस पास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगालने और अपराधियों का पता लगाने में जुटी है | घटना के वक्त महिला अपने पति के साथ भिखना पहाड़ी में किसी डॉक्टर के पास से दिखलाकर  वापस ससुराल परसा के झाई चक लौट रही थी. इससे पहले महिला पति के साथ अपनी माँ से मिलने मायके भी गयी थी. पटना में भिखना पहाड़ी के पास उसका मायके है. महिला पहले मायके में माँ से मिली और उससे मिलने के बाद डॉक्टर के पास भिखना पहाड़ी गयी थी. मृतका के पति  शम्भू रजक पटना में लौंड्री चलाता है.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक परसा के झाई चक के रहने वाले शम्भू रजक अपनी पत्नी रूबी देवी और दो बच्चों के साथ ससुराल पटना मायके गयी थी वहा से अपनी बीमारी के इलाज के लिए डॉक्टर को दिखलाने भिखना पहाड़ी में गये थे |महिला रूबी देवी काफी दिनों से बीमार थी जो अपने चिकित्सक से दिखलाने के दौरान ही अपनी माँ से भी मिलने मायके चली गयी थी | गुरुवार को वे दोपहर में घर झाई चक लौटने के दौरान जगनपूरा होते हुए झाई चक जा रहे थे तभी उनकी बाईक में जगनपूरा पुल के पास एक दुसरे बाईक सवार दो बदमाशो से हल्का सा सट गया जिसके बाद दोनों में कहासुनी हो गयी | इसके बाद बाईक सवार बदमाशो ने पीछा करके आगे बढने पर चैनपुर के पास पीछे से बाईक सवार महिला पर गोली चला दिया.

अपराधियों की गोली बाईक पर पीछे बैठी शम्भ रजक की पत्नी रूबी देवी के सर में लगी और वह बाईक से गिर गयी और अपराधियों ने अपनी बाईक घुमाकर वापस जगनपुरा की ओर ही फरार हो गये | बारिश में ही सडक पर पत्नी की गोली लगने से मौत के बाद पति शम्भू और उसके दो बच्चे दहाड़ मार कर रोने बिलखने लगे | महिला की हत्या के बाद वहां स्थानीय लोगों की भीड़ जमा हो गयी | इस बीच किसी ने पुलिस को खबर दे दिया तब गोपालपुर थाना की पुलिस पहुंची और छानबीन में जुट गयी | वहीँ सूत्रों के मुताबिक शभु रजक जब पत्नी और दो बच्चो के साथ लौट रहा था तो उसकी बाईक से जगनपूरा के पास बदमाशो की खड़ी बाईक में सट गया तो बदमाशो से विवाद हो गया. उसके बाद बदमाशो ने उसे देख लेने और सबक सिखाने की धमकी दे डाली. वहीँ शम्भू रजक  पत्नी और बच्चो के साथ घर के आगे बढ़ गया | इसके बाद अपराधियों ने उसका पीछा करके कई राउंड गोलीबारी की जिसमे एक गोली महिला रूबी देवी के सर में लग गयी और उसकी मौत मौके पर ही हो गयी | स्थानीय इलाके के लोग बताते हैं की इस जगनपूरा में पुल और आस पास के इलाके में अपराधियों का अड्डा लगा रहता है जो आये दिन लूटपाट और छीनतई की वारदात को अंजाम देते हैं. वहीँ गोपालपुर थानेदार अलोक कुमार ने बताया की शम्भू रजक पत्नी और दो बच्चो के साथ अपने ससुराल गया था उसके बाद भिखना पहाड़ी से झाई चक घर जा रहा था | इस दौरान ही बाईक सवार से बाईक में सटने को लेकर विवाद हो गया उसके बाद अपराधियों ने पीछा करके महिला को गोली मार हत्या कर दिया | पुलिस को घटनास्थल से एक खोखा मिला है और पुलिस टीम आस पास के इलाके में लगे सीसीटीवी खंगालने में जुटी है. फिलहाल अपराधियो का कोई सुराग हासिल नही हुआ है.

महिला की हत्या के बाद परिजनों और दो छोटे बच्चो का रो रो कर बुरा हाल-

परसा के झाई चक निवासी लौंड्री चलाने वाले शम्भू रजक की पत्नी का मामूली विवाद में अपराधियों द्वारा गोली मार कर की गयी हत्या के बाद परिवार में चीत्कार और विलाप से लोगों का कलेजा फटा जा रहा था वहीँ पुर झाई चक गावं में जब महिला का शव पोस्टमार्टम के बाद देर रात पहुंचा तो कोहराम मच गया. माँ बेटी रूबी के शव को देख बार बार कहती की मुझे क्या पता था की आज बेटी आखरी बार मिलने आई है. वहीँ ग्रामीणों का गुस्सा महिला की हत्या को लेकर न भड़क जाए इसके लिए गोपालपुर थाना की पुलिस के साथ ही परसा बाजार थाने की पुलिस भी पहुंची हुई थी | महिला रूबी देवी की माँ का भी रो रो कर बुरा हाल हो रहा था वह होश में आते ही बार बार रट लगाये जा थी की हम का जानी की आज बेटीया हमरा से अंतिम बार मिले ला आईलक हल त हम जाई नही देती हल कहते हुए बार बार बेहोश हो जा रही थी | वहीँ अपनी आँखों के सामने ही माँ की गोली मार हत्या की वारदात से दो छोटे बच्चे माँ के शव से लिपट लिपट जब माँ उठो न माँ उठो न कहकर रोते तो वहां मौजूद सभी लोगो की आँखे बरसने लग जाती | महिला रूबी देवी के रोते बिलखते एक तीन साल और एक पांच साल के बच्चो की आँखे माँ की हत्या का वह खौफनाक मंजर भी साफ़ झलक रहा था |माँ के शव आते ही बच्चे लिपट गये और कभी माँ के शव को झकझोर कर उठाने की कोशिस करते तो कभी दहाड़ मार विलाप कर रहे अपने पापा शाम्भ रजक से माँ को उठाने की बात कहते |महिला रूबी देवी के पति शम्भू रजक की हालत पागलो सी हो गयी थी और बार बार उठकर पत्नी के शव के पास ले जाने की जिद करने लगते | यही हाल घर और आस पास की महिलाओं का भी हो रहा था | कभी लोग रोते बिलखते परिजनों को ढाढस बंधाते चुप कराने लगते तो कभी खुद ही रोने लगते | पूरा झाई चक गांव में महिला की हत्या को लेकर लोगों में गुस्सा का आलम है लोग इस मामूली सी बात को लेकर अपराधियो द्वारा हत्या किये जाने को लेकर पुलिस प्रशासन पर भी जमकर भड़ास निकाल रहे थे | ग्रामीणों का गुस्सा  इस बात को लेकर था की अपराधियो का इतना हौसला बढ़ा  हुआ है की न कोई झगड़ा दुश्मनी थी फिर भी राह में बाईक सट जाने से महिला की हत्या कर दिया और पुलिस प्रशासन कहा रहती है |अपराधियों का कलेजा बाईक पर बैठे महिला के दो छोटे छोटे बच्चो को देख पर भी नही पसीजा था की मामूली बात पर हत्या कर दिया | अब माँ की हत्या के ईन छोटे छोटे बच्चो के सर से पूरी जिन्दगी माँ की ममता की साया हट गया।