पटना राजधानी के कई इलाकों में तेज हवा के साथ मूसलाधार बारिश!

पटना(अजित यादव): पटना के फुलवारी पुनपुन परसा जनीपुर सहित आस पास के ग्रामीण इलाके में अचानक तेज मूसलाधार बारिश ने मौसम का मिजाज ठंडा कर दिया। बारिश ने खेतो में खड़ी सरसों, चना मसूरी खेसारी आदि रबि फसलों को भारी नुकसान हुआ है । किसानों के मेहनत की फसलें तैयार होने के कगार पर आकर बारिश ने बड़ा नुकसान कर दिया है। वहीं अचानक बारिश से सड़को पर कीचड़ से लोगो का चलना मुहाल कर दिया।हालांकि पटना के मौसम सुबह से ही ठंडाया हुआ था। आकाश ने हल्की धूप तो निकली थी लेकिन अचानक बदलो के काले घेरे ने मौसम में अंधेरा सा छा दिया और ग्यारह बजे बारिश शुरू हो गयी । ठण्ड को भुलाकर सुबह सवेरे बगैर स्वेटर जैकेट के निकले लोगो को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ा। बारिश से ग्रामीण इलाके में ज्यादा नुकसान की खबर है वहीं शहरों में बाजारों में खुल रही दुकानो पर ग्राहकों का टोटा पड़ गया। मौसम विभाग का कहना है कि अचानक नही हुई है बारिश । पिछले कुछ दिनों से तापमान में आयी गर्माहट से बारीश का माहौल बना हुआ था। एक बार फिर हुई बारीश से लोगो को ठंड का अहसास कराने लगी है. अगहन दूना, पुषे सवाई, माघ व फागुन बरसे त घरहूं से जाई। यानी खेती के हिसाब से यदि अगहन महीने में बारिस होती है तो फसल का उत्पादन दोगुना बढ़ता है। जबकि पुष महीने में सवा गुणा। वही माघ व फागुन महीने की बारिश के कारण क्षति ही होती है. पटना जिले के कई इलाकों में पश्चिमी विक्षोभ के कारण मंगलवार की सुबह मौसम में अचानक आए बदलाव तेज हवाओं के साथ हो रही भारी बारिश ने किसानों को चिंता में डाल दिया। भारी बारिश के कारण तेलहनी, दलहनी, गेंहू सहित आम खेती के उत्पादन पर भी इसका भारी असर देखने को मिलेगा। प्रखंड किसान के अनुसार ऐसे मौसम में जब सभी पौधे में फूल लगे हुए हैं। उसमें भारी बारिश और तेज हवा होने के कारण उत्पादन में आधे की कमी आयेगी। जिसके कारण किसानों को भारी क्षति होना निश्चित लग रहा है। ऐसे ही मौसम के मद्देनजर एक कहावत भी प्रचलित है।