पटना एम्स में एक साथ 33 पॉजिटिव मामले निकले, पारस के आईसीयु इंचार्ज सहित दो डिस्चार्ज!

PATNA(अजित यादव): शनिवार को एम्स में काफी गहमागहमी का माहौल रहा | कोरोना से जहाँ समस्तीपुर में पोस्टेड पटना निवासी डीपीओ सुनील तिवारी की मौत हुई वही बिहार विधान परिषद के कार्यकारी सभापति परिवार सहित आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराये गये | इसके साथ ही अबतक एक दिन में सबसे ज्यादा कोरोना पॉजिटिव मरीजो की रिपोर्ट सामने आई है जिसने कोरोंना की लड़ाई में जूझ रहे एम्स के चिकित्सको के लिए बड़ी चुनौती के रूप में सामने आया है |शनिवार को पटना एम्स में 33 नए मरीजो की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव के रूप में सामने आया है । एम्स कोरोना नोडल आफिसर डॉ संजीव कुमार सिंह ने बताया की कोरोना से स्वस्थ्य हो चुके दो मरीज को एम्स से डिस्चार्ज कर दिया गया है जबकि 33 नए मामले कोरोना पॉजिटिव के रूप में सामने आये हैं। जगदेव पथ निवासी और पारस अस्पताल के आईसीयू इंचार्ज 36 वर्षीय डॉ प्रशांत कुमार भी शामिल है |डॉ प्रशांत करीब दो सप्ताह लड़कर कोरोना से जंग जीत लिया है | एम्स से डिस्चार्ज होने के बाद डॉ प्रशांत अपने आवास जगदेव पथ चले आये | इसके आलावा गोपालगंज के ख्वाजेपुर निवासी 42 वर्षीय मनोज दुबे ने भी कोरोना से स्वस्थ्य होकर एम्स से डिस्चार्ज हुए हैं | वहीँ 33 नए कोरोना संक्रमित होने वालों में पटना के 17 मरीजो के साथ सिवान , गया , मुजफरपुर , नालंदा , दरभंगा , वैशाली सहित अन्य जिलो के मरीज शामिल हैं | सभी मरीजो का आइसोलेशन वार्ड में इलाज किया जा रहा है।