नवादा पुलिस ने 60 लाख का गांजा ज़ब्त किया!

नवादा(अवध भारती): रजौली थाना क्षेत्र के चितरकोली पंचायत स्थित जांच चौकी पर मंगलवार की देर शाम उत्पाद विभाग की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर उड़ीसा से झारखंड के रास्ते आने वाली अवैध मादक पदार्थों की तस्करी में गांजे से भरा ट्रक को जब्त कर लिया साथ हीं उपचालक को गिरफ्तार कर लिया। हालांकि अंधेरे का फायदा उठाकर चालक भागने में सफल रहा. जांच चौकी पर उत्पाद विभाग की टीम का नेतृत्व कर रहे उत्पाद निरीक्षक राम प्रिती कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि तस्करों के द्वारा झारखंड के रास्ते अवैध मादक पदार्थों की तस्करी में गांजे की खेप ले जाया जा रहा है। जिसके कारण उत्पाद की टीम के द्वारा उड़ीसा से अवैध रूप से करीब 61 लाख रुपए का 1024 किलोग्राम गांजा लेकर आर रहेे ट्रक को गांजे सहित जब्त कर एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. उत्पाद निरीक्षक राम प्रिती ने बताया कि सूचक के जरिए सूचना मिली कि ट्रक नंबर एनएल 05 जी 0655 में उड़ीसा से गांजा भरकर बिहार लाया जा रहा है। सूचक की सूचना का सत्यापन करने के लिए जांच चौकी पर उत्पाद टीम व पुलिस के मदद से घेराबंदी कर धान के बोरे के नीचे गांजे को बरामद करने व तस्करों को गिरफ्तार करने के लिए अभियान चलाया। उत्पाद निरीक्षक ने बताया कि सूचना मिलने के बाद रजौली जांच चौकी पर झारखंड की ओर एक ट्रक आया, जिसे पुलिस टीम ने रुकने का इशारा किया। लेकिन चालक ट्रक को तेज गति से भगाने लगा, जिसको पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रुकवाया. ट्रक का चालक अधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल रहा है। लेकिन उपचालक मोतिहारी जिला निवासी चंदन कुमार को गिरफ्तार कर लिया गया। जिसने पूछ ताछ के दौरान भागने वाले चालक का नाम रामचंद्र बताया गया है। उपचालक ने बताया कि गांजे की खेप को उड़िसा से गोपालगंज ले जाया जा रहा था। उत्पाद निरीक्षक ने बताया कि फिलहाल उप चालक व चालक पर प्राथमिकी दर्ज की जा रही है। बाद में वाहन मालिक का पता लग जाएगा जिस पर भी मादक पदार्थों की तस्करी को लेकर प्राथमिकी दर्ज कर कार्यवाही की जाएगी!
बताते चलें कि इस समय बिहार में विधानसभा का चुनाव प्रचार जोरों शोरों पर चल रहा है। जिसकी वोटिंग कार्य पहला चरण 28 अक्टूबर से शुरू होगी।ऐसे में मादक पदार्थों के तस्करी किया जाना चुनाव को प्रभावित कर सकता था. जिसे उत्पाद विभाग के द्वारा जब्त कर नाकाम कर दिया गया।जांच के मौके पर डीएपी पुलिस टीम के साथ उत्पाद विभाग के सिपाही के अलावा सैप व एसएसबी के जवान मौजूद थे।