दिल्ली एम्स के बाद अब पटना एम्स सेंटर ऑफ एक्सीलेंस घोषित

PATNA(अजित यादव): दिल्ली एम्म्स के बाद अब पटना एम्स को सरकार ने सेंटर ऑफ एक्सीलेंस बनाने का निर्णय लिया है। कोरोना वायरस संक्रमण एवं इसके इलाज के लिए एम्स  पटना मॉडल की सराहनीय कार्य को देखते हुए राज्य सरकार के स्वास्थ्य विभाग से जारी पत्रांक के जरिये पटना एम्स को सेंटर ऑफ एक्सीलेंस घोषित किया गया है। इससे पहले केंद्र सरकार ने दिल्ली एम्म्स को सेंटर ऑफ  एक्सीलेंस घोषित किया गया था । साथ ही  सभी राज्य सरकारों से अपने-अपने राजधानी में एक कोविड-19 अस्पताल बनाने को कहा गया था। राज्य सरकार ने एक जैसा कि सहमति के बाद इसे सेंटर ऑफ एक्सीलेंस घोषित किया। उक्त जानकारी देते हुए एवं एम्स निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह एवं नोडल पदाधिकारी डॉक्टर संजीव कुमार सिंह ने बताया कि राज्य के मेडिकल कॉलेजों एवं जिलों के स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षण देने की रूपरेखा तैयार कर कर लिया गया है । कोरोना संक्रमण के इलाज के लिए एम्स पटना मॉडल के अनुसार सभी अस्पतालों को तैयार किया जाएगा।जिससे एम्स मॉडल के अनुसार अन्य अस्पतालों में कोविड मरीजो का इलाज किया जाएगा।  पटना के शिक्षाकर्मियों चिकित्सकों नर्सों ने सरकार के इस कदम की प्रशंसा की है।