तस्करों ने बंदागोभी सब्जी के बीच में छिपाया था माल!

नवादा(अवध भारती): थाना क्षेत्र के समेकित जांच चौकी पर सोमवार की अहले सुबह टाटा एस गाड़ी में लोड गांजा की बड़ी खेप उत्पाद पुलिस ने पकड़ा!
गांजा की यह खेप सब्जी बंदा कोवी के बीच में छिपाकर तस्कर ला रहे थे! दो तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है, जिनसे पूछताछ की जा रही है!उत्पाद अधीक्षक प्रमोदित नारायण सिंह के निर्देशानुसार उत्पाद पुलिस कि टीम शराब बंदी को लेकर झारखंड की ओर से आने वाले वाहनों की सघन जांच कर रही थी. जिसका नेतृत्व उत्पाद सहायक अवर निरीक्षक रघुराम कर रहे थे जांच के दौरान सब्जी लोड ओडी 14 पी 9983 नंबर की टाटा एस गाड़ी को शक के आधार पर रोका गया. सब्जी की सड़ांध महक से जांच करने वाले जवानों को शक हुआ की कुछ न कुछ इसमें गड़बड़ी जरूर है, नहीं तो सड़ी हुई सब्जी गाड़ी से नहीं लेकर जाया जाता शक होने पर गाड़ी में रहे दोनों कारोबारी को हिरासत में ले लिया गया. उसके बाद सब्जी के गठरियों को उतारा गया तो अंदर दो बोरे में 23 पैकेट मादक पदार्थ गांजा बरामद हुआ!प्रत्येक पैकेट में पांच किलो गांजा भरा हुआ था.

बरामद गांजे का वजन 115 किलोग्राम के करीब बताया जा रहा है जिसका बाजार मूल्य लगभग पांच से छः लाख रुपये आंका जा रहा है. मौके से मादक पदार्थों की तस्करी करने वाले उड़ीसा के सुंदरगढ़ जिला के बन्डा आईडीसी मोहल्ले का रहने वाले बंदना एका के पुत्र विष्णु कुमार तथा झारखंड के सिमडेगा जिला अंतर्गत राउड़किला के रहने वाले बशील डूंगडूंग के पुत्र समीर डूंगडूंग को हिरासत में ले लिया गया है. हिरासत में रहे तस्करों ने बताया कि गांजा तस्करी कर उड़ीसा के बहरागोड़ा से लाया जा रहा था. जिसे बिहार के गया जिले में पहुंचाया जाना था बताते चलें कि शराबबंदी के बाद बिहार में अन्य राज्यों से चोरी छुपे शराब के साथ गांजा एवं अन्य मादक पदार्थों की तस्करी करने में वृहद पैमाने पर तस्कर सक्रिय हो गये हैं. लगतार शराब के साथ गांजे की बरामदगी इस बात की पुष्टि करता है. जांच चौकी पर मौजूद उत्पाद निरीक्षक रामप्रिती कुमार ने बताया कि गिरफ्तार तस्करों के ऊपर मादक पदार्थ तस्करी अधिनियम के प्रावधानों तहत प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेजा जाएगा. जांच के मौके पर एएसआई रघुराम एवं उत्पाद सिपाही संतोष कुमार, राजीव कुमार के साथ सैप के जवान मौजूद थे।