ठीलामोहन में धूमधाम से हुई मां काली की पुजा अर्चना

अररिया(रंजीत ठाकुर): फारबिसगंज प्रखंड क्षेत्र के ग्रामीण इलाकों में शनिवार को दीपावली एवं मां काली की पुजा धूमधाम से की गई । खवासपुर, रमै, मधुबनी, बारा, सिमराहा, हलहलिया एवं ठीलामोहन आदि में इस साल मां काली की पुजा तो हुई । परंतु, कोरोना काल को लेकर मेले का आयोजन कहीं देखने के लिए नहीं मिला । सार्वजनिक मां काली मंदिर ठीलामोहन में अमावश की रात निशा पूजन रमै के पंडित नूनू झा द्वारा मंत्रोच्चारण के साथ ही विधि विधान के साथ तीन दिवसीय भक्तिमय कार्यक्रम का शुभारंभ हुआ । पुजा पद्धति के बारे में पंडित नूनू झा ने बताया कि कार्तिक कृष्ण अमावास्या की रात दीपावली त्यौहार पर मां काली की पुजा होती है । साथ ही नुतन लक्ष्मी, भगवान गणेश, खाता बही, कलम दवात आदि के पूजन का भी विधान है । इस बार दीपावली की रात महालक्ष्मी, भगवान कुबेर पुजा और उल्का भ्रमण एक साथ मनाई गई. वहीं महाकाली पुजा के अवसर पर भारत रक्षा मंच के जिला महामंत्री चन्दन कुमार सिंह द्वारा देहाती इलाकों में विभिन्न पुजा स्थलों पर घूम घूम कर कोरोना से बचाव को लेकर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की अपील भी की गई । उन्होंने दीपावली एवं मां काली की पुजा का लोगों को बधाई देते हुए लोगों से विदेशी (चाइनीज) वस्तुओं का बहिष्कार करने एवं मिट्टी का दीप जलाकर सनातनी धर्म को जीवंत रखने का लोगों से आग्रह किया गया था । चन्दन सिंह ने लोगों से निवेदन करते हुए कहा कि मां काली की पुजा करें, दीपावली मनाएं लेकिन पटाखों को ना जलाएं।