झुंझुनू के मंदिर में दादी जी विराजे रे…

[Edited By: Robin Raj]

पटनासिटी(संवाददाता, न्यूज़ क्राइम 24): जलती अरे झुंझुनू वाली जोत तेरी जलती रहे, प्रेम से बोलो जय दादी की, भादवा को मेलो यो तो बडो़ अलबैलो थार झांज नगारा बाजे रे झुंझुनू के मंदिर में दादी जी विराजे रे जैसे अनेक भजनों से पटना सिटी भक्तिमय हो गया, मौका था श्री रानी सती दादी जी न्यास ट्रस्ट पटना द्वारा आयोजित  भादो वदी अमावसया महोत्सव का, जहां मिरचाई गली स्थित श्री रानी सती दादी मंदिर को झाड़ फानूस रंगीन बल्बों से सजाया गया था. आचार्य हरि कांत झा की  देखरेख में श्री दादी जी की मंगला आरती घंटा घडि़याल और नगाड़ों के बीच हुई. मुख्य यजमान शिवकुमार झुनझुनवाला सपतनी पूजा अर्चना किया.

अलौकिक शृंगार ने मन मोह लिया-

श्री दादी जी का अलौकिक शृंगार छप्पन भोग अपने आप में मनुष्यता भी खेल रहा था ट्रस्ट के अध्यक्ष सुभाष झुनझुनवाला ने बताया कि लॉकडाउन को देखते हुए पूरे मंदिर परिसर को सेनिटाइज और वेरी कैटिंग कर सिर्फ  दर्शन करने के लिए मंदिर को खोला गया था, दर्शन करने वाली भक्त दूरियां बनाकर और मासक लगा कर दर्शन कर रहे थे वहीं दूसरी ओर दादी भक्तों ने अपने-अपने घरों में लॉकडाउन को देखते हुए श्री दादी जी को जात लगाई. श्री दादी जी को रोली-मोली, चावल, नारियल, काजल,  मेहंदी, फुल चढ़ाकर पूजा अर्चना किया. इससे पूर्व चौधरी गली स्थित देवड़ा भवन में कल रात्रि चौदस की रात जगाई गई थी।