घर से बुलाकर युवक को गोलियों से भून डाला, आधा दर्जन राउंड गोलीबारी, तीन खोखा बरामद!

नौबतपुर(अजित यादव): राजधानी का नौबतपुर इलाका एक बार फिर गोलीयों की तड़तड़ाहट और दिन दहाड़े वारदात कर अपराधियों ने अपने बुलन्द हौसले से पुलिस के इकबाल पर सवाल उठाया है। सारे आम हत्या की घटना से जहा परिजन खौफ व डर से थाना पुलिस में प्राथमिकी तक दर्ज नही कराने पहुंचे हैं वहीं खौफजदा ग्रामीणों में से कोई अपना मुंह नही खोलना चाहते। नौबतपुर के शहर रामपुर गांव में घर से बुलाकर गोलियों से भूनकर युवक को हत्या के बाद काफी देर तक अपराधी का दल फायरिंग करते हुए दहशत फैला आराम से निकलकर फरार हो गए लेकिन पुलिस नदारद रही । मृतक के परिजन अभी तक यह नही बता पा रहे हैं कि हत्या करने वाले कौन थे लेकिन पूरा गांव जानता है की हत्यारे पड़ोसी ही है और लड़की के चक्कर मे हत्या हुई है. पटना के नौबतपुर के शहर रामपुर गांव में नाथून वर्मा के उन्नीस वर्षीय पुत्र रितेश को दिन दहाड़े डेढ़ बजे पड़ोस के घर मे आये अजय वर्मा के नाती सुजीत ने घर से बाहर बुलाया और इस दौरान घात लगाए
2 बाइक सवार पांच अपराधियों ने ताबड़तोड़ गोलियों की बौछार कर रितेश को छलनी कर दिया। दो गोली सर और छाती में लगने के बाद खून से लथपथ रितेश जमीन पर गिरकर तड़पने लगा और उसके बाद भी चार पांच राउंड फायरिंग कर अपराधी आराम से फरार हो गए। घर के पास ही रितेश को गोलियों से छलनी घायल अवस्था मे देख परिजन दहाड़ मारते हुए दौड़े और आनंन फानन उसे इलाज के लिए पटना पीएमसीएच ले जाने लगे लेकिन उसने रास्ते मे ही दम तोड़ दिया। युवक की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया वही पूरे गांव इलाके में दहशत का माहौल हो गया। हत्या की वारदात की सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस को घटनास्थल से तीन खोखा मिला है। हत्या की इस सनसनीखेज वारदात से भयभीत ग्रामीणों में कोई मुंह खोलने को तैयार नही है । हालांकि दबी जुबान चर्चा है कि अजय वर्मा के बेटे मंटू ने अपने भांजे सुजीत को नाथून वर्मा के बेटे रितेश को उसके घर से बुलाने भेजा और अपने बदमाश साथियो संग मिलकर गोलियों से भूनकर उसे मौत के घाट उतार दिया। घटना को लेकर चर्चा है कि रितेश की हत्या प्रेम प्रसंग को लेकर की गई है। पुलिस लाश को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया हैं ।वहीं घटना में शामिल अपराधियों के गिरफ्तारी के लिए पुलिस छापेमारी में जुटी हैं।