गौरीचक थानेदार रिश्वत मांगने के आरोप में सस्पेंड!

पटना(अजित यादव): गौरीचक के थानेदार नागमाणि को रिश्वत लेने के आरोप में सस्पेंड कर दिया गया है. एसएसपी ने रिश्वत की मांग कर रहे इस थानेदार का ऑडियो सोशल मीडिया में वायरल होने के बाद सिटी एसपी को जांच का आदेश दिया गया था | जानकारी के मुताबिक जांच में सामने आया है की बलराम बेदुआ नाम के एक शख्स ने गौरीचक थाना में कंप्लेन किया था | थाने का ड्राईवर लालबाबू के मोबाईल से किसी का केस दर्ज कराने के लिए पचास हजार रूपये रिश्वत की बात थानेदार से करायी गयी थी जिसमे थानेदार ने कहा की ऊपर आ जाईये | ऑडियो वायरल होने पर यह मामला पटना सदर के एएसपी किरण जाधव के पास पहुंचा और फिर सीनियर अधिकारियों को जानकारी में देने के बाद वायरल ऑडियो की जांच कराई गई थी | रिपोर्ट आने ने बाद यह स्पष्ट हो गया कि वायरल ऑडियो में जो आवाज है वो गौरीचक के थानेदार नागमणि का ही है | इसके बाद थानेदार पर गाज गिर गयी |
बता दें की इसी साल फ़रवरी महीने में भी गौरीचक थाने में पदस्थापित पुलिसकर्मियों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई थी. गौरीचक के चिपुरा खुर्द मुसहरी गांव में तोड़ी गई शराब की भट्ठी मामले को प्रमुखता से उठाया गया था. जिसके बाद गौरीचक के तत्कालीन थानेदार रहे रमण कुमार को भी निलंबित किया गया था. साथ ही थाने में पदस्थापित नौ पुलिस पदाधिकारियों को लाइन हाजिर कर पूरा थाना ही बदला गया था.निलंबित थानेदार रमण कुमार को आगे 10 साल तक किसी भी थाने का इंचार्ज नहीं बनाने का कड़ा एक्शन लिया गया था.