गैंगरेप वारदात में पुलिस ने छह आरोपियों को किया गिरफ्तार, स्पीडी ट्रायल करा दिलाई जाएगी सजा!

पटना(अजित यादव): गौरीचक थाना के लंका कच्छुआरा टोला में महिला के साथ गैंगरेप की घटना और उसका विडियो बनाकर वायरल करने के मामले को पुलिस ने छह आरोपियों को गिरफ्तार किया है जबकि एक आरोपित अबतक फरार है उसकी गिरफ्तारी के लिये छापेमारी जारी है। अब पुलिस गैंगरेप में शामिल आरोपितों को स्पीडी ट्रायल करा सजा दिलाऐगी ।गिरफ्तार सभी मनचले गैरिचक थाना क्षेत्र के ही रहने वाले हैं। कई थानों की पुलिस के साथ आला अफसरों ने जब वायरल वीडियो में शामिल मनचलो की पहचान के बाद गिरफ्तारी की करवॉइ शुरू किया तो इलाके में हड़कम्प मच गया । आधी रात से अहले सुबह तक गौरिचक थाना क्षेत्र में आला पुलिस ऑफिसरों की गाड़ियां दौड़ती रही और चंद घंटे में ही राजधानी को शर्मशार करने वाले वहशियों को दबोच लिया गया । पुलिस की इस त्वरित कारवॉइ के पीछे महिला आयोग के कड़े तेवर को भी माना जा रहा है। गैंगरेप के बाद वीडियो वायरल की पहले भी कई घटनाएं हो चुकी है लेकिन मामला राजधानी से जुड़ा हुआ था तब पुलिस मुख्यालय को सख्त और त्वरित कार्रवाई करना पड़ा.

बता दें कि सुरक्षा बांध किनारे ग्रामीण इलाके की एक 45 साल की महिला के साथ मनचलों ने बारी बारी गैंगरेप कर पुलिस की नींद उड़ा दी थी। इसकी जानकारी मिलते ही महिला आयोग भी सक्रिय हो गयी और फिर एसएसपी उपेंद्र शर्मा सिटीएसपी सहित कई आला अधिकारी गौरीचक थाना पहुंच गए। इसके बाद पुलिस वायरल वीडियो की पीड़िता  महिला का पता लगाई और उसके गांव पहुंच गई। पुलिस  पीड़िता को गौरीचक थाना लायी जहाँ आला अधिकारियों ने उससे पूछताछ की । इसके बाद रात भर छापेमारी करते हुए पुलिस टीम ने सात दुष्कर्मी लड़को में से छह को गिरफ्तार कर लिया। गौरीचक गैंगरेप में शामिल छह आरोपियों की गिरफ्तारी की पुष्टि पटना एसएसपी ने किया है.

एसएसपी ने बताया कि कुल 6 आरोपियों को पटना पुलिस की टीम ने अलग-अलग जगहों से गिरफ्तार किया है जबकि एक आरोपी अब भी फरार चल रहा है. उसकी तलाश में लगातार छापेमारी चल रही है. पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि गिरफ्तार किये गए आरोपियों में दीना कुमार, विकास कुमार, रौशन कुमार, सन्नी कुमार, पिंटू कुमार और मुकेश कुमार शामिल है. ये सभी गौरीचक के ही नयाचक फहीमपुर गांव के रहने वाले हैं. इनके पास से वो मोबाइल भी पुलिस ने बरामद किया है, जिससे गैंग रेप के वीडियो को वायरल किया गया. इन आरोपियों की पहचान करने और उन्हें गिरफ्तार करने के लिए पटना के एसएसपी उपेंद्र कुमार शर्मा ने एक बड़ी टीम बनाई थी. सिटी एसपी ईस्ट जितेंद्र कुमार टीम को लीड कर रहे थे. इस टीम में फतुहा के एएसपी मनीष कुमार, मसौढ़ी के एसडीपीओ सोनू कुमार के साथ ही गौरीचक व जक्कनपुर सहित 9 थानों की पुलिस शामिल थी. एसएसपी ने स्पष्ट कर दिया है कि इस मामले में स्पीडी ट्रायल चलाया जाएगा. आरोपियों को कड़ी सजा दिलाई जाएगी.

जुलाई के अंतिम सप्ताह की है घटना

पटना पुलिस की जांच के बाद जो बात सामने आई है, उसके मुताबिक गैंग रेप की यह घटना जुलाई महीने के अंतिम सप्ताह की है. पीड़ित महिला ने पुलिस को जो बात बताई, उसके मुताबिक राखी से 6 दिन पहले उसके साथ ये गंदी करतूत हुई है. वारदात के बाद युवकों ने महिला को धमकाया था, इस कारण वो अब तक चुप थी. गौरतलब है की महिला पटना में दाई का काम करती है. जब वो पटना से काम कर वापस अपने घर लौट रही थी तो उसके साथ यह वारदात हुई थी. पैदल जा रही इस महिला को रास्ते में बाइक सवार युवक ने घर तक छोड़ देने की बात कही थी. लेकिन वो पुनपुन बांध के पास महिला को लेकर चला गया था. पहले उसने महिला का रेप किया. उसी दरम्यान 6 युवक पहुंच गए और एक-एक कर सभी ने रेप किया.
गैंगरेप के कई दिनों बाद वीडियो वायरल होने पर मचा हड़कंप, आनन फानन गैरिचक थाना पहुंचे आला पुलिस ऑफिसर  पुनपुन बांध के पास गैंग रेप में शामिल लड़कों ने मोबाइल से पूरी वारदात का वीडियो बनाया था. इसमें कुछ लड़कों ने वीडियो डिलीट कर दिया था, जबकि एक लड़के के मोबाइल में वीडियो था. उसी मोबाइल से वीडियो वायरल हुआ. वायरल होने के बाद ही शुक्रवार की शाम मामला सामने आया. एसएसपी और सिटी एसपी ईस्ट खुद गौरीचक थाना पहुंच गए. सबसे पहले पीड़ित महिला की खोज हुई. मिलने के बाद उसे थाना लाया गया. उसके बयान के बाद एसएसपी की मॉनिटरिंग में रात से शुक्रवार की रात से लेकर शनिवार की सुबह 6 बजे तक पुलिस एक ऑपरेशन चला. वायरल वीडियो और महिला के बयान के आधार पर 6 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया. फरार चल रहे 7 वें आरोपी की तलाश चल रही है।