गया के बांके बाज़ार में नक्सलियों ने उड़ाया सोनदाहा स्कूल!

पटना(अजित यादव): बिहार के डीजीपी के उस बयान को चुनौती देते हुए नक्सलियों ने मंगलवार की रात सोनदाहा स्कूल की बिल्डिंग को डायनामाइट से उड़ा दिया . ऐसे माओवादियों की जोरदार धमाके की गूंज राज्य के पुलिस मुख्यालय तक पहुंचा नक्सलियों ने संदेश दे दिया है कि अभी उनका अस्तित्व पूरी तरह समाप्त नही हुआ है। गौरतलब हो की डीजीपी ने चंद रोज पहले ही बयान दिया है की बिहार में अब नक्सली बड़ी समस्या नही है।माओवादियों ने जिस सरकारी स्कूल की बिल्डिंग को उड़ाया है उसे छह फरवरी को ही सीआरपीएफ ने खाली किया था ताकि यहाँ बच्चो की पढ़ाई बाधित न हो । लोकसभा चुनावों में इस स्कूल में सीआरपीएफ ने कैंप किया था। सरकारी स्कूल को उड़ाने वाले नक्सलियों की धर – पकड़ के पहले उनके हमले से निबटने की तैयारी की जा रही है . देर रात तक पुलिस टीम स्कूल के पास पहुंच गई और नक्सलियों की धड़ पकड़ के लिए कॉम्बिंग ऑपरेशन शुरू कर दिया गया ।

जानकारी के मुताबिक गया जिले के बांकेबाजार प्रखंड क्षेत्र स्थित मध्य विद्यालय सोनदाहा में डायनामाइट लगा कर माओवादियों ने मंगलवार की रात उड़ा दिया . विस्फोट की आवाज इतनी कर्कश थी की इससे आसपास का इलाका थर्रा उठा . हालांकि , इसी स्कूल से करीब आधा किलोमीटर दूर जंगल में केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल ( सीआरपीएफ ) की 153 बटालियन का कैंप है . विस्फोट की आवाज सुनते ही कैंप में मौजूद सीआरपीएफ के अधिकारियों व जवानों ने कैंप पर माओवादी हमले की आशंका के मद्देनजर मोर्चा लेकर तैनात हो गये और घटना की जानकारी सीआरपीएफ के डीआइजी संजय कुमार सीआरपीएफ के 153 बटालियन के कमांडेंट सौरभ चौधरी , एसएसपी राजीव मिश्रा , सिटी एसपी राकेश कुमार सहित सीआरपीएफ व पुलिस के अन्य अधिकारियों को दी . माओवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए देव व मदनपुर में स्थित सीआरपीएफ की टीम को कार्रवाई करने का आदेश दिया . इधर , गया की ओर से लुटुआ व छकरबंधा इलाके से कांबिंग ऑपरेशन शुरू करने की योजना देर रात तक वरीय अधिकारी बनाते रहे .

दो साल पहले भी सोनदाहा स्कूल को नक्सलियों ने बनाया था निशाना-

लोकसभा चुनाव के दौरान माओवादियों की गतिविधियों पर अंकुश लगाने को लेकर मध्य विद्यालय सोनदाहा में सीआरपीएफ ने कैंप बनाने को लेकर भ्रमण किया था . लेकिन , 18 मार्च 2018 को पुलिस के लौटते ही सोनदाहा स्कूल में बनाये गये शौचालय सहित अन्य सामान में आग लगा कर क्षतिग्रस्त कर दिया गया था . इस घटना के बाद सीआरपीएफ की एक यूनिट को सोनदाहा स्कूल में कैंप कराया गया . लेकिन , बच्चों की पढ़ाई प्रभावित न हो , इस बाबत छह फरवरी 2020 को सीआरपीएफ ने स्कूल को खाली कर दिया था और वहां से करीब आधा किलोमीटर दूर जंगल में नया कैंप स्थापित किया था . साथ ही छह फरवरी को दिनदहाड़े माओवादियों ने हमला कर सोनदाहा गांव के टोला मोनिया के पास एक रोड रोलर व एक ट्रैक्टर में आग लगा दी थी . दोनों वाहनों का प्रयोग सड़क निर्माण व पेयजल आपूर्ति से संबंधित योजनाओं किया जा रहा था।