कोविड 19 में रेडियोलॉजिस्ट की भूमिका महत्वपूर्ण : निदेशक 

पटना(अजित यादव): रविवार को  अंतरराष्ट्रीय रेडियोलॉजी दिवस पर एम्स पटना में वर्कशाप एवं सी एम ई का आयोजन किया गया । फंक्सनल एम . आर .आई पर वर्कशॉप एवं कोविड संबंधित रेडियोलॉजी की भूमिका पर स्टेरिमोटेकटिक ब्रेस्ट वायोप्सी एवं इस कार्यशाला एवं सी . एम . ई का उदघाटन संस्थान के निदेशक डा ० पी.के सिंह ने किया । इस अवसर पर विभाग के दारा कोविड में रेडियोग्राफर एवं रेडियोलॉजीस्ट के अनुभवो एवं अवलोकन विषम पर एक निबंध प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसमे रेजिडेंट छात्रो एवं रेगियोग्राफर ने बड़चढ कर भाग लिया ।   उद्घाटन समारोह में संस्थान के डीन एवं चिकित्सा अधिक्षक ने भी अपने विचार रखें ।    अपने स्वागत भाषण में निदेशक ने कोविड महामारी के समय में रेडियोग्राफर एवं रेडियोलॉजिस्ट की भूमिका की सरहना करते हुए उसके महत्त्व के बारे में विस्तार से बताया । निदेशक ने कहा की हर विभाग की तरह कोविड 19 संकट में रेडियोलॉजिस्ट भी कदम से कदम मिलाकर कोरोना से लड़ाई लड़ रहे हैं ।इस व्याख्यान माला में वेविनार के दारा लगभग 150 रेडियोग्राफर एवं रेडियोलॉजिस्ट ने भाग लिया ।  इस समारोह में संस्थान के डीन डा 0 उमेश भदानी , डा 0 सी . एम . सिंह चिकित्सा अधिक्षक , वरीय चिकित्सक डा 0 विन्द कुमार , कोविड के नोडल ऑफिसर डा 0 संजीव कुमार एवं डा  वीणा सिंह एवं अन्य संयाकय सदस्य के अलावा विभाग के सारे रेजिडेंट डॉक्टर एवं रेडियोग्राफर मौजूद रहे  । इसके अलावा डा 0 उपासना सिन्हा , डा 0 राजीव नायन प्रियदर्शी , डा 0 प्रेम कुमार एवं डा 0 सुभाष कुमार ने कमशः कोविड मे एक्सरे , सी . टी . स्कैन , अल्ट्रासाउण्ड एवं फंक्सनल एम . आर . आई विषय पर जानकारी दी । साथ ही डा 0 प्रेम कुमार ने संस्थान द्वारा कोविड के असहज समय में विभाग दारा किये गये कार्यों का विवरण भी दिया । समारोह में क्विज का आयोजन भी किया गया।