कोबरा और नक्सली के बीच मुठभेड़ में बाल-बाल बचे शीर्ष नेता!

जमुई(मो० अंजुम आलम): मुंगेर सीमाक्षेत्र के भीमबांध इलाके के पैसरा और कंदनी गांव के बीच जंगल में रविवार को काबिंग ऑपरेशन के दौरान 207 कोबरा बटालियन और नक्सली के बीच मुठभेड़ हो गई। इस दौरान रुक-रुक कर दोनों तरफ से सैकड़ों राउंड गोलीबारी हुई है। हालांकि अबतक मुठभेड़ चलने की सूचना मिल रही है। इस दौरान कई नक्सलियों के घायल होने की भी सूचना मिल रही है।बता दें कि जमुई-मुंगेर सीमा क्षेत्र के भीमबांध इलाके के जंगलों में नक्सलियों के शीर्ष नेता प्रवेस दा, जो पूर्वी बिहार पूर्वोत्तर झारखंड स्पेशल एरिया कमिटी का सचिव और सेंट्रल कमिटी का सदस्य भी है। वह अपने सहयोगी नारायण कोड़ा, बहादुर कोड़ा सुरेश कोड़ा सहित तीन दर्जन नक्सलियों के दस्ते के साथ जमावड़ा की सूचना मिली थी। जहां बड़े पैमाने पर नक्सली इकट्ठा हो रहे थे और मीटिंग के तहत विधानसभा चुनाव को टारगेट करने की साजिश रचे जाने की बात बताई जा रही है। नक्सलियों के जमावड़े की सूचना के बाद 207 कोबरा के कमांडेंट रविशंकर कुमार द्वारा द्वितीय कमान अधिकारी बिकेश कुमार,सहायक कमांडेंट श्यामसुंदर, अमित कुमार और कुंदन सुटवन के नेतृत्व में एक टीम गठित की गई। टीम में उप निरीक्षक मोहन कुमार और इंस्पेक्टर विपुल कुमार भी शामिल रहे। टीम द्वारा जंगली एरिया के चिन्हित ठिकानों पर शनिवार को ऑपरेशन चलाया गया इसी दौरान नक्सली के शीर्ष नेता प्रवेस दा के दस्ता से रविवार को मुठभेड़ हो गई। हालांकि अबतक दोनों तरफ से गोलीबारी होने की सूचना मिल रही है। कुछ नक्सलियों के घायल होने और नक्सली के कुछ सामान बरामद होने की खबर मिल रही है। फिलहाल बरामद सामानों की पुष्टि नहीं हो पाई है।