काश्तकारों ने बलिया डीएम से बताया यूपी-बिहार बार्डर की दबंगई का सच, विधायक सुरेन्द्र सिंह भी रहे मौजूद

बलिया(संजय कुमार तिवारी): यूपी-बिहार की सीमा पर खेतों में बोआई का प्रकरण अभी भी थमता नहीं दिख रहा है। यूपी के किसान प्रशासन के असहयोग से विवश हो गए हैं। उनके खेतों में बिहार सीमा के किसान जबरिया बोआई कर रहे हैं। यूपी सीमा के किसानों की मांग के बावजूद जिला प्रशासन की ओर से कोई मदद नहीं दी जा रही है।किसान आजीज आकर गुरुवार को डीएम के यहां भी अपनी फरियाद लेकर पहुंचे। मौजा बाबूवेल के काश्तकारों ने कलेक्ट्रेट में जिलाधिकारी को इस संबंध में ज्ञापन सौंपकर गुहार लगाई।

काश्तकारों ने बताया कि हम अपने खेत का राजस्व उप्र सरकार को अदा करते हैं। हम लोगों की भूमि को ग्राम नैनीजोर, जिला बक्सर (बिहार) के असलहाधारी लोगों द्वारा अवैध रूप से कब्जा किया जा रहा है। उनकी ओर से जान से मारने की धमकी भी दी जा रही है। इस दौरान मौजूद भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह ने भी किसानों के मामले में जिलाधिकारी से तत्काल हस्तक्षेप करने को कहा।

बोआई के लिए पर्याप्त पुलिस बल की मांग
काश्तकारों ने डीएम से कहा कि हम लोगों को अपनी भूमि पर शांतिपूर्ण बोआई करने के लिए पर्याप्त पुलिस की आवश्यकता है, क्योंकि अगर हम लोग बिना पुलिस बल के गए तो जान भी जा सकती है। इस संबंध में हल्दी थाना से संपर्क करने पर राजस्व मामला बताया जा रहा है, जबकि खसरा, खतौनी में लंबे समय से हम लोगों के नाम पर भूमि दर्ज है। ज्ञापन देने वालों में काश्तकार विजय प्रताप सिंह, सत्यप्रकाश सिंह, अरुण कुमार सिंह, हरिवंश सिंह, धर्मनाथ सिंह, हरदेव सिंह, मनोज कुमार सिंह आदि शामिल रहे।