काला बिल्ला कार्यक्रम का समापन

पटना(अजित यादव): बिहार सचिवालय सेवा संघ के सभी कर्मियों द्वारा पदनाम परिवर्तन एवं प्रोन्नति के मुद्दे पर अंतिम दिन विरोध स्वरूप काली पट्टी लगाकर अपने दायित्वों का निर्वहन किया गया । बिहार सचिवालय सेवा संघ के महासचिव अशोक कुमार सिंह ने बताया की बिहार सचिवालय सेवा के सचिवालय सहायक का पदनाम परिवर्तित कर केंद्र सरकार के अनुरूप सहायक प्रशाखा पदाधिकारी करने का मामला सरकार के समक्ष पिछले 5 वर्षों से विचाराधीन है, इस संबंध में दो बार उच्चस्तरीय वार्ता भी हुई है तथा इस हेतु सचिवालय सेवा द्वारा तीसरी बार आंदोलन किया जा रहा है | विदित हो कि केंद्र एवं आसपास के सभी राज्यों में पदनाम परिवर्तन बहुत पहले किया जा चुका है, परंतु सामान्य प्रशासन विभाग की हठधर्मिता के कारण बिहार सचिवालय सेवा के सचिवालय सहायक का पदनाम परिवर्तन का मामला विगत 05 वर्षों से लंबित है, इस बार बिहार सचिवालय सेवा संघ द्वारा किसी प्रकार के समझौते के मूड में नहीं है और यह आंदोलन चरणबद्ध तरीके से जारी रहेगा। साथ ही सचिवालय सहायक के लगभग 60% पद रिक्त होने के कारण कार्यबोझ की बात बताई गई हैं । सरकार से अनुरोध किया गया है कि जल्द से जल्द सचिवालय सहायक की बहाली की जाए । सरकार द्वारा संघ के मुद्दों पर संज्ञान नहीं लेने से सचिवालयकर्मियों में काफी रोष देखा गया। कार्यकारिणी के बैठक के बाद आगे के रणनीति की घोषणा की जाएगी।