एम्स में बायोमेट्रिक अटेंडेंस पर लगा रोक!

फुलवारीशरीफ(अजीत यादव): एम्स पटना में बायोमेट्रिक अटेंडेंस पर रोक लगा दी गई है। इसकी जानकारी देते हुए निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने बताया अगले आदेश तक पटना एम्स में किसी तरह का बायोमैट्रिक अटेंडेंस पर पूरी तरह रोक लगा दी गई है। साथ ही कोरोना मरीजों के लिए एम्स पटना में 30 वेड का आइसोलेशन वार्ड पूरी तरह तैयार है। हालांकि अभी तक एक भी मरीज कोरोना के एम्स में नहीं पहुंचे हैं। निदेशक डॉ प्रभात कुमार सिंह ने लोगों से अपील की है कि कोरोना से किसी प्रकार की डरने की जरूरत नहीं है। कोरोना के प्रति एहतियात बरते। किसी तरह की अफवाह पर ध्यान न दे। किसी तरह का संदेह होने पर इसकी जांच फौरन विशेषज्ञ से कराएं।

जानिए कोरोना कैसे फैलता है

कोरोना वायरस बहुत सूक्ष्म लेकिन प्रभावी वायरस है. कोरोना वायरस मानव के बाल की तुलना में 900 गुना छोटा है, लेकिन कोरोना का संक्रमण दुनिया भर में तेजी से फ़ैल रहा है. अब तक कोरोना वायरस का संक्रमण दुनिया के 60 देशों में फ़ैल चुका है. चीन में कोरोना का कहर जारी है और अब ईरान, इटली और दक्षिण कोरिया जैसे देश कोरोना वायरस के बढ़ते खतरे से जूझ रहे हैं.
कोरोना के बढ़ते खतरे के मद्देनजर अब लोग काफी सावधानी बरत रहे हैं. ऐसे में हम आपको कोरोना से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं.

कोरोना का वायरस कहीं भी पहुंच सकता है, जब तक इसकी राह में कोई बाधा नहीं आये. जब हम छींकते हैं या खांसते हैं तो हमारे मुंह से कुछ बूंदें गिरती हैं. अगर इनकी राह में कुछ नहीं आये तो ये सीधे जमीन पर पहुंच सकती हैं. कोरोना का वायरस आपके शरीर में तभी पहुंच सकता है जब यह आपके आंख, नाक या मुंह में पहुंचे. कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि कोरोना के संक्रमण की प्रमुख वजह खांसना या छींकना ही है. किसी व्यक्ति के बहुत करीब जाकर बात करने या साथ खाना खाने से भी कोरोना का वायरस फ़ैल सकता है.

कैसे फ़ैल सकता है कोरोना?

कोरोना के संक्रमण फैलने की चार वजह हो सकती है. आप संक्रमित व्यक्ति के पास कितनी देर रहे? आप उसके कितने पास गए? क्या उस व्यक्ति के छींकने या खांसने की वजह से आपको छींटे पड़े? आपने अपने चेहरे को कितनी बार छुआ? आपके उम्र और स्वास्थ्य की वजह से भी कोरोना के संक्रमण का असर पड़ता है।