उपेक्षा का शिकार हुआ सिकंदरापुर गांव , मुलभुत सुविधाओं से दूर

बलिया(संजय कुमार तिवारी): सिकंदरापुर गांव जिले के विकासखंड नगरा के ग्राम सभा सिकंदरापुर के लोग आज भी मूलभूत सुविधाओं को तरस रहे हैं. ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर आरोप लगाते हुए कहा कि ग्राम प्रधान के लोगों से धन उगाही करते हैं. ग्रामीणों ने बताया कि गांव के विकास के लिए जो भी पैसा सरकार की तरफ से आता है उसे ग्राम प्रधान किसी न किसी मद में निकाल लेते हैं लेकिन वो काम होता नही है. ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान पर आरोप लगाते हुए यह भी बताया गया कि शौचालय के मद में ग्रामीणों के नाम से आया पैसा भी धमकी देकर निकलवा लिया गया.

इससे आज भी शौचालय नहीं मिल पाया है. इतना ही नहीं ग्रामीणों ने आवास के नाम पर दो-दो सौ रुपया रजिस्ट्रेशन ने नाम पर वसूली का आरोप भी ग्राम प्रधान पर लगाया है. ग्रामीणों ने बताया कि इसके बावजूद हमें आज भी आवास मुहैया नहीं कराया गया है इससे हम आज भी खुले आसमान के नीचे रहने को विवश हैं उन्होंने कहा कि ज्यादातर लोगों को करोना काल में जॉब कार्ड तक नहीं उपलब्ध कराया गया. उन्होंने कहा कि सिर्फ दस्तावेजों में आवास और शौचालय आवंटित किये गए हैं.

यहां तक की पूर्व प्रधान के कार्यकाल में बने सड़क नाली इत्यादि काम को दिखाकर पुनः दोबारा पैसे इस प्रधान ने उतारे हैं इस संबंध में जब ग्राम प्रधान से पूछने की कोशिश की तो उन्होंने कुछ भी कहने से मना कर दिया. वहीं खंड विकास अधिकारी नगरा ने बताया कि शिकायत प्राप्त हुई है. जांच कर दोषियों के विरुद्ध उचित कार्रवाई की जाएगी. अब देखना यह है कि क्या भ्रष्ट प्रधान के खिलाफ अधिकारी द्वारा कोई कार्रवाई होती है या सिर्फ कागजो में होगी कार्यवाही या होगी लीपापोती।