उदयमान सूर्य को अर्ध्य के साथ ही लोक आस्था का महापर्व छठ का हुआ समापन

जमुई(मो. अंजुम आलम): लोक आस्था का महापर्व छठ के चौथे दिन शनिवार को उदयीमान सूर्य को अर्ध्य अर्पित करने के साथ ही छठव्रतियों द्वारा पर्व का समापन किया गया। इससे पूर्व छठ के तीसरे दिन शुक्रवार को व्रतियों ने अस्ताचलगामी सूर्य को अर्ध्य अर्पित किया। इस दौरान शहर के खैरमा, बिहारी, हनुमान घाट, त्रिपुरारी सिंह घाट, सूर्यनारायण घाट, त्रिपुरारी घाट सहित विभिन्न घाटों पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ उमड़ी रही। लोग हर्षोल्लास के साथ माथे पर डलिया लेकर छठ घाट पहुंचे ।

वहीं कई व्रती महिलाएं दंडवत करती हुई घाट पहुंच कर भगवान भास्कर को अर्ध्य अर्पित की। इस दौरान बच्चों ने भी छठ घाटों पर जमकर आतिशबाजी की। पटाखे की आवाज़ और छठ गीतों के साथ पूरा छठ घाट गूंजता रहा। पूरा माहौल भक्तिमय बना रहा। इस दौरान व्रतियों ने भगवान भास्कर को अर्घ्य देकर अपने और अपने परिवार की मंगल कामना का आशिर्वाद मांगा । वहीं घाटों पर बड़ी संख्या में छठ व्रती अपने परिवार के साथ पहुंचे और भगवान भास्कर को अर्घ्य दिया।

उसके बाद श्रद्धालुओं ने घाटों पर स्थापित भगवान भाष्कर की प्रतिमा का दर्शन करते हुए पूजा अर्चना की। बता दें कि शनिवार की सुबह उदीयमान सूर्य को अर्घ्य देने के साथ ही चार दिवसीय छठ व्रत का समापन हो गया। इस दौरान सभी घाटों पर सुरक्षा व्यवस्था के पुख्ता इंतेज़ाम किए गए थे। बड़ी संख्या में पुलिस जवानो की तैनाती की गई थी।