इमारते शारिया की ओर से लाकडाउन में मजबूर और परेशान लोगों को बीच में राहत का सामान वितरण

फुलवारीशरीफ(अजित यादव): कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया में दहशत के माहौल में जी रहे गरीबो पर बरपा कर रखा है । ऐसे में लाकडाउन के कारण लाखों गरीब और मजदूर भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। ऐसी स्थिति में इमारते शारिया बिहार, झारखंड और उड़ीसा के ओर से बिहार, उड़ीसा और झारखंड में राहत का समान की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। इमारत शरिया के कार्यवाहक नाजिम मौलाना शिबली अल कासमी ने कहा कि इमारते शारिया के विभिन्न उप-कार्यालयों के जिम्मेदार अपने जिले और ब्लॉक के अध्यक्ष व सचिव और नकीब सज्जनों के निगरानी में गरीब और परेशान लोगों के लिए राहत का कार्य हज़रत अमीरे शरीयत मौलाना मोहम्मद वली रहमानी साहब के निर्देश के अनुसार करने में जुटे हैं. उन्होंने कहा कि इमारते शरिया हर अवसर पर बिना किसी मतभेद के मानवता के आधार पर सेवा करती रही है. उन्होंने कहा कि इमारते शरीया के मुख्यालय कार्यालय फुलवारी शरीफ पटना की ओर से फुलवारी शरीफ के विभिन्न क्षेत्रों में व्यापक रूप से राहत प्रदान कर रहा है। डब्ल्यू एच ओ और सरकार की ओर से जारी किए गए सर्कुलर की सम्पूर्ण रियायत करते हुए स्थानीय पुलिस निरीक्षक और अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ धार्मिक भेद भाव से ऊपर उठकर दैनिक श्रम, रिक्शा चालक, गरीब और शेडुल ट्राईब के लोगों के बीच जाकर स्वयं इमारते शरिया कानूनों के जिम्मेदारान लोगों की सुरक्षा और सावधानियों के साथ लोगों के बीच राहत के वस्तुओं का वितरण करने में लगे हुए हैं। साथ ही वे सज्जन जो मांगने से बचते हैं, ऐसे लोगों की पहचान करके उनके घरों में चुपचाप राहत के सामान पहुंचाने की पूरी व्यवस्था की जा रही है। अबतक फुलवारी शरीफ के विभिन्न क्षेत्रों में हजारों अफराद को सहायता का सामान मुहय्या कराया जा चुका है । इमारते शरिया प्राथमिकता आधार पर शेड्यूल ट्रैब, शेड्यूल कास्ट और अन्य लोगों के बीच खाद्य वस्तुओं की आपूर्ति सुनिश्चित करने पर ध्यान केंद्रित कर रही है। कहा कि लाकडाउन के कारण पूरे देश में गरीब और दैनिक मजदूरी करने वाले की स्थिति बिगड़ रही है इस कारण समाज के सभी अमीर लोगों को आगे आना चाहिए, क्योंकि मानवता की सेवा करना अच्छी इबादत है।