अब रुपहले पर्दे पर दिखेगी ममता कुलकर्णी की बायोग्राफी!

न्यूज़ क्राइम 24 डेस्क: प्रोड्यूसर निखिल द्विवेदी बीते दौर की एक्ट्रेस ममता कुलकर्णी की जिंदगी पर फिल्म बनाने जा रहे हैं. उन्होंने बिलाल सिद्दीकी की किताब ‘द स्टारडस्ट अफेयर’ के राइट्स खरीदे हैं. ये फिल्म ममता कुलकर्णी की लाइफ पर आधारित है. ममता का जन्म 20 अप्रैल 1972 को मुंबई में हुआ था. उन्होंने 1992 में रिलीज हुई फिल्म ‘तिरंगा’ से अपने करियर की शुरुआत की थी. इस फिल्म में उनका छोटा सा रोल था.साल 1993 में आई फिल्म ‘आशिक आवारा’ ममता की पहली हिट फिल्म थी. इसी साल ममता ने स्टारडस्ट मैग्जीन’ के कवर शूट के लिए टॉपलेस फोटोशूट कराया था जिसके बाद उनकी लोकप्रियता में काफी इजाफा हुआ और उन्हें कई बड़े प्रोड्यूसर्स के ऑफर्स आने लगे. ममता कुलकर्णी ने इसके बाद करण अर्जुन और सबसे बड़ा खिलाड़ी जैसी हिट फिल्मों में भी काम किया लेकिन धीरे-धीरे वे सिनेमा के पर्दे से गायब होने लगीं.ममता कुलकर्णी का नाम इसके बाद अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन से जुड़ा. लेकिन फिर वे विक्‍की गोस्वामी के साथ अपने रिश्तों को लेकर चर्चा में रहीं. दोनों की पहली मुलाकात दुबई में हुई थी. विक्की गोस्वामी एक इंटरनेशनल ड्रग्स सिंडिकेट सरगना है. दुबई में विक्की को आजीवन कारावास यानी 25 साल की सजा दी गई थी लेकिन विक्की ने सजा से बचने के लिए अपील की ‌थी और इस्लाम कबूल करने के बाद उसकी सजा को कम कर दिया गया था. रिपोर्ट्स के मुताबिक, दोनों ने जेल में शादी की थी और जेल से छूटने के बाद विक्की और ममता केन्या शिफ्ट हो गए थे.हालांकि साल 2016 में मुंबई के पास ठाणे में 2000 करोड़ रुपए की ड्रग्स पकड़ी गई थी. इस मामले में विक्की गोस्वामी का नाम सामने आया था. जब ठाणे पुलिस ने इन्वेस्टिगेशन किया तो संभावना जताई गई कि ममता कुलकर्णी भी इंटरनेशनल ड्रग रैकेट का चेहरा हो सकती हैं. हालांकि ममता ने इसे अफवाह करार दिया था और कहा था कि वे अपने सुपरस्टारडम के दौर को भूल चुकी हैं और वे पिछले कई सालों से तप कर रही हैं.ममता ने एक किताब भी लिखी थी जिसका नाम था ‘ऑटोबायोग्राफी ऑफ ए योगिनी’. ममता ने ये भी कहा था कि उन्हें फिल्मों में नहीं जाना था बल्कि वे आध्यात्मिक जीवन के लिए ही बनी हुई हैं. उन्होंने इसके अलावा चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा था कि उन्होंने विक्की से शादी ही नहीं रचाई है और दोनों केवल अच्छे दोस्त हैं. ममता ने कहा था कि विक्की अच्छा इंसान है और अगर उन्हें आप ड्रग डीलर कहते हैं तो पूरी दुनिया ड्रग डीलर है. उन्होंने ये भी कहा था कि भगवान ने चाहा तो वे जल्द अपने देश वापस लौटेंगी. इस इंटरव्यू के अंत में ममता ने कहा था कि जो भी शख्स भगवान का बंदा है वो किसी इंसान का गुलाम नहीं हो सकता।