अपराध का नायाब तरीका: चिमटा से ATM हैक कर पैसा उड़ाने वाले 2 गिरफ्तार!

झारखण्ड: सरायकेला जिले के आदित्यपुर पुलिस ने एटीएम मशीन में चिमटा के सहारे मशीन हैक कर लोगों के खाते से पैसे निकालने वाले अंतरराज्यीय गिरोह के दो शातिर अपराधियों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों में बिहार के गया जिला निवासी रवि रंजन कुमार और झारखंड के गिरिडीह निवासी निरंजन कुमार निराला शामिल है।

इस संबंध में एसपी मोहम्मद अर्शी ने शनिवार को प्रेसवार्ता में बताया कि इस शातिर गिरोह द्वारा एटीएम मशीन के पैसे निकलने वाले स्थान पर चिमटा फंसा कर रख दिया जाता था। उसके बाद जब भी कोई व्यक्ति एटीएम से पैसे निकालने आता तो उसका नगद पैसा एटीएम के मशीन में ही फंस कर रह जाता था। उस व्यक्ति के जाने के बाद इस गिरोह के सदस्य बड़े ही आसानी से एटीएम में फंसे चिमटे को निकाल लेते थे, जिसमें खाते से निकला पैसा भी फसा रह जाता था।

पूछताछ के दौरान पुलिस के गिरफ्त में आए अपराधियों ने बताया कि इनके गिरोह के तार पश्चिम बंगाल के पुरूलिया, आसनसोल समेत झारखंड के रांची, धनबाद, जमशेदपुर और सरायकेला आदि क्षेत्रों से जुड़े हैं। ये घूम-घूम कर एटीएम को अपना निशाना बनाते थे।

पकड़े गए अपराधियों ने बताया कि ये उन्हीं एटीएम को चुनते थे, जहां गार्ड की तैनाती नहीं रहती थी। इसके अलावा गिरोह के सदस्य एटीएम क्लोनिंग कर कार्ड बदलकर भी लोगों के खाते से रुपए निकालने का काम करते हैं।

एसपी ने बताया कि पुलिस को गुप्त सूचना प्राप्त हुई थी कि बीते 18 सितंबर की शाम गम्हरिया लाल बिल्डिंग के पास स्थित एक एटीएम मशीन से पैसे निकालने वाले गिरोह के लोग सफेद रंग के होंडा अमेज गाड़ी में घूम रहे हैं। उसपर त्वरित कार्रवाई करते हुए छापामारी दल का गठन किया गया और इस गिरोह के दो सदस्यों को गिरफ्तार किया गया। जबकि गिरोह में शामिल अन्य दो व्यक्ति विपिन कुमार और लालू कुमार मौके से भागने में सफल रहा।

पुलिस ने इस गिरोह के दोनों सदस्यों के पास से एटीएम मशीन में फंसाने वाला 7 चिमटा, कांड में प्रयुक्त होंडा अमेज कार, चार अलग-अलग बैंक के क्लोन किए गए एटीएम, पांच अन्य बैंक के एटीएम के अलावा इनके पास से चार मोबाइल फोन भी बरामद किया है।